व्‍हाट्सएप मैसेज ने बच्‍ची के पैरेंट्स को बना दिया किडनैपर

एक वायरल मैसेज से खड़ी हुई बड़ी समस्या। 

व्‍हाट्सएप मैसेज ने बच्‍ची के पैरेंट्स को बना दिया किडनैपर
SPONSORED

आजकल व्हाट्सएप और फेसबुक पर वायरल हो रही एक प्यारी सी बच्ची की तस्वीर ने मुम्बई पुलिस का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया।
जिस लड़की के फोटो की हम बात कर रहे हैं उसका नाम आरती है। आरती हाजी अली फुटपाथ पर किसी व्यक्ति के पास बैठी थी। झुग्गी निवासी के एक आदमी को आरती के माता-पिता पर शक़ हो रहा था।

सोशल मीडिया की पावर  

सोशल मीडिया की पावर  

सोशल मीडिया की पावर के सामने मुम्बई पुलिस को झुकना पड़ा। मुम्बई के डिप्टी कमिश्नर उस जगह पर पहुंचे और बंसी मारवाड़ी को हिरासत में ले लिया। मारवाड़ी भूरी आँखों और घुंघराले बालों वाली उस प्यारी से बच्ची के पिता होना का दावा कर रहा था।

RELATED STORIES

माँ-बाप से अलग दिखती है बच्ची

माँ-बाप से अलग दिखती है बच्ची
via

पुलिस को बंसी की बात पर यकीन नहीं हुआ। आरती का एडमिशन टार्डियो म्यूनिसिपल स्कूल में कराया गया है। स्कूल का रिकॉर्ड चेक करने के लिए स्कूल में एक टीम को भेजा गया। वहाँ के एक स्टाफ ने जन्म प्रमाण पत्र दिखाया और जेजे अस्पताल से भी वो ही सर्टिफिकेट मिला।

आखिर में आई हकीकत सामने

आखिर में आई हकीकत सामने
via

पुलिस ने बंसी मारवाड़ी के पड़ोसियों से इस बात की पुष्टि के लिए जब पूछा तो उन्होंने बताया की आरती उन्हीं की बेटी है। राजस्थान के नादियार खेडा मूल का बंसी मारवाड़ी 25 सालों पहले मुम्बई आया था। मुम्बई में ही मारवाड़ी बंसी की
शादी हुई थी।

माँ-बाप की आँख का तारा है आरती

माँ-बाप की आँख का तारा है आरती
via

बंसी के एक बेटा भी है जो सातवीं कक्षा में पढ़ता है। आरती का जन्म 23 फरवरी 2013 को हुआ था। आरती के पिता ने बताया की वो प्रतिदिन 300 रूपये की कमाई करते हैं और 100 रूपये अपनी बेटी आरती के बैंक में जमा करते हैं।

एक विदेशी ने बच्ची को गोद लेना चाहा

एक विदेशी ने बच्ची को गोद लेना चाहा
via

मारवाड़ी ने ये भी बताया की एक विदेशी ने आरती को गोद लेने के लिए कहा और बदले में 2 लाख रूपये देने की बात कही थी। मारवाड़ी ने बताया कि उन्हें आरती की सुरक्षा की चिंता लगी रहती है।

यह मैसेज हुआ था व्हाट्सएप पर वायरल

यह मैसेज हुआ था व्हाट्सएप पर वायरल

`