SPONSORED

10 ऐसे कार्टूनिस्ट जिनकी कलम आज भी बोलती है 

ऐसे कार्टूनिस्ट जिनके बारे में जान आप भी उनकी कलम को करोगे सलाम पढ़े

SPONSORED

, , 11 -

1. शंकर

1. शंकर

ये ऐसे कार्टूनिस्ट थे जो किसी भी बात को बताने के लिए जबान नहीं अपनी कलम का प्रयोग करते थे संन 1975  में लगे आपतकाल में इन्होने ऐसे कार्टून बनाये थे जो सरकार की चुप्पियों पर तमाचा जड़ते थे। इनके कार्टून एक 'शंकर विकली' नाम की पत्रिका में भी आते थे जो आपातकाल के दौरान बंद हो गई थी। आज भी इनके कार्टून देखकर लोग आसानी से इनके भाव को समझ जाते हैं।

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

2. आर. के. लक्ष्मण

2. आर. के. लक्ष्मण
via

कुछ लोगो के दिन की शुरुआत इनके कार्टून से ही होती थी जी हाँ आर. के लक्ष्मण का जन्म 24 अक्टूबर 1921 में हुआ था और वो कार्टून्स व्यंग्य और कटाक्ष करने में माहिर थे और इनके इसी काम के कारण उन्होंने पुरे भारत में प्रसिद्धी हासिल की थी। "द टाइम्स ऑफ़ इंडिया" के एक कॉलम "द कॉमन मैन" से मिली एक खबर के अनुसार  26 जनवरी 2015 को इनका देहांत हो गया था।

3. अबू अब्राहम

3. अबू अब्राहम
via

'शंकर विकली' से प्रेरणा ले अबू अब्राहम ने अपनी लेखनी और पत्रकारिता में महारत हासिल कर ली थी । यह एक अच्छे कार्टूनिस्ट और एक अच्छे पत्रकार भी रहे थे। इनका निधन 1 दिसंबर 2002 को हुआ था और ये 'ट्रिब्यून' 'द इंडियन एक्सप्रेस' और 'द गार्डियन'के साथ जुड़े हुए थे।

4. हरिश चंद्र शुक्ला

4. हरिश चंद्र शुक्ला
via

इनके कार्टून का पेननेम 'काका' था और 'काक' का मतलब कौओ होता हैं। इनके कार्टून व्यंग्य से भरे होते थे और ये 'जनसत्ता' 'नवभारत टाइम्स' 'दैनिक जागरण' और 'राजस्थान पत्रिका' से जुड़े हुए थे।

5. मारियो मिरांडा

5. मारियो मिरांडा
via


मारियो मिरांड अपनी कलम से जाने जाते थे इनक कार्टून इतना प्रभावी होता था की लोग सबसे पहले इनके कार्टून पर नजर डालते थे ये  "इलस्ट्रेटेड वीकली", "इकॉनॉमिक्स टाइम्स" और "द टाइम्स ऑफ इंडिया" से जुड़े रह चुके हैं। इन्हें 'पद्मश्री' और 'पद्म विभूषण' से सम्मानित भी किया गया था। इनका निधन 11 दिसंबर 2011 को गोवा में हो गया था

6. आबिद सुरती

6. आबिद सुरती
via

'ढब्बूजी' के नाम से कार्टून बनाते थे और इनका यहीं ना बहुत प्रसिद्ध हुआ हैं। लेखन में माहिर थे और इन्हें राष्ट्रिय पुरुस्कार भी मिल चूका हैं। इनके अनेक कार्टून पर्यावरण से जुड़े होते हैं। इनके कार्टून हिंदी समाचार पत्रिका के अलावा गुजराती समाचार पत्रिका में भी छपते हैं।

7. इरफ़ान

7. इरफ़ान
via


इरफ़ान अपने कार्टून से पहचान पाने वाले इरफ़ान के कार्टून आजकल 'जनसत्ता' अख़बार में देखे जाते हैं ये इसके अलावा 'नवभारत टाइम्स' और 'एशियन ऐज' पर  भी काम कर चुके हैं। इनके कार्टून में हाल ही की घटना नजर आती हैं और ये अपने कार्टून को एक बेहतर कार्टून बनाने में कोइ कसर नहीं रखते हैं।

8. ओ. वी. विजयन

8. ओ. वी. विजयन
via

ये मलयालम साहित्यकार माने जाते हैं और साथ में ही कार्टूनिस्ट की दुनियां में एक अच्छा नाम कमाया है। द स्टेट्समैन और द हिंदू के साथ मिलकर इन्होंने काम किया हैं और इनकी किताब "Khasakkinte Itihasam" पढने वालों ने इनकी बहुत ही सराहना की हैं। ये मलयालम के लेखक थे बहुत ही अच्छा लेखन करते थे।

9. परेश नाथ

9. परेश नाथ
via

ये पहले भारतीय कार्टूनिस्ट हैं जिन्हें UAN के जनरल सैक्रेटरी एनान ने सम्मानित किया था। इनके कार्टून भारत में ही नहीं विश्व भर में प्रचलित हैं और इंडियन नैशनल हैराल्ड में बतौर चीफ कार्टूनिस्ट काम कर चुकें है।

10. ईस्माईल लहरी

10. ईस्माईल लहरी
via

दैनिक भास्कर के जाने-माने कार्टूनिस्ट हैं और इनेक कार्टून अखबार ही नहीं सोशल मिडिया पर भी चाहे रहते हैं। इनके कार्टून में राजनीती से लेकर किसी भी घटना का जिक्र बहुत ही अच्छे व्यंग्य के साथ होता हैं।

SPONSORED