SPONSORED

416 साल पुराने नियम से मदर टेरेसा को संत घोषित किया

19 साल बाद ही संत घोषित हो गयी 'मदर टेरेसा' किया।

SPONSORED

124 13 ,

संत आखिर होते कौन हैं?

संत आखिर होते कौन हैं?

संत की उपाधि उन लोगो को दी जाती है जो ईश्वर से सीधे जुड़े होते है, जिनसे हम  के अलावा भी प्रार्थना कर सकते हैं।

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

तीन चरणों में मदर टेरेसा को संत घोषित किया गया

तीन चरणों में मदर टेरेसा को संत घोषित किया गया
via

संत बन्ने की प्रक्रिया मृत्यु के बाद शुरू होती है। मदर टेरेसा अपने आप में ही एक महिला थी जिनसे छूने भर से लोगो का कल्याण हुआ है।

#पहला चरण

#पहला चरण
via

व्यक्ति के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की जाती है, सम्बधित सारे कागज़ और दस्तावेज इक्कठे किये जाते है।

# दूसरा चरण

# दूसरा चरण
via

जब उनके काम सिद्ध हो जाते है तब उन्हें धन्य घोषित किया जाता है। मदर टेरेसा के निधन के 6 साल बाद ही उन्हें धन्य। 

# तीसरा चरण

# तीसरा चरण
via

धन्य घोषित करने के बाद उसके द्वारा किये गए चमत्कारों की खोज होती हैदो चमत्कार अगर मिल जाये तो व्यक्ति को संत घोषित किया जाता है|

19 साल में ही संत घोषित

19 साल में ही संत घोषित
via

धन्य से संत घोषित होने में अभी तक सरे संतो के केस में 50 साल का अंतर रहा पर मदर टेरेसा ऐसे महिला है जिन्हें 19 साल बाद ही संत घोषित कर दिया गया।

मदर टेरेसा के चमत्कार

मदर टेरेसा के चमत्कार
via

कई विवाद हुए पर फिर भी पोप ने मदर टेरेसा के दो चमत्कारों को मान्यता दी।

# पहला chamatkar

# पहला chamatkar
via

2002 में एक महिला जिनका नाम था मोनिका बसरा उन्हें कैंसर था, पर जब उन पर मदर टेरेसा की तस्वीर वाला लॉकेट फेरा गया तब वह ठीक हो गयी।

# दूसरा चमत्कार

# दूसरा चमत्कार
via

ब्राज़ील के एक व्यक्ति को ब्रेन टुमोर था, जो की मदर टेरेसा से प्रार्थना करने पर ठीक हो गया, जो की २०१५ में मान्य हो गया।

SPONSORED