SPONSORED

9 साल तक पिता और भाई ने किया रेप 

इंसानियत को शर्मसार कर देनी वाली घटना  

9 साल तक पिता और भाई ने किया रेप 
SPONSORED

" " , , , ,

जन्म से ही रहती थी वो नानी के पास 

जन्म से ही रहती थी वो नानी के पास 

1988 में लखनऊ में उसका जन्म हुआ था, और जन्म से ही अपने माता-पिता से दूर अपनी नानी के पास रहती थी

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

2004 में आ गई वो अपने घर 

2004 में आ गई वो अपने घर 
via

मगर मम्मी पापा से ज्यादा दिन वह दूर नहीं रह पाई और उनका दुलार पाने उनके साथ रहने अपने घर आ गई  मगर जिसे वह अपना घर समझ रही थी वहाँ तो दो भेड़िये उसको नोचने का इंतजार कर रहे थे 

नए घर ने बना दी, उसकी जिंदगी नर्क  

नए घर ने बना दी, उसकी जिंदगी नर्क  
via

उसके पिता का नया घर बना था, सब बहुत खुश थे। सब गृह प्रवेश की तैयारी में लगे हुए थे, मगर इसके बाद जो हुआ उसने उसकी पूरी जिंदगी को तबाह कर दिया   

डॉ. की जगह तांत्रिक को बुलाया गया 

डॉ. की जगह तांत्रिक को बुलाया गया 
via

अचानक ही पिता सदन सिंह की तब्यत खराब हो गई और डॉक्टर की जगह किसी तांत्रिक को बुलाया गया 

तांत्रिक ने जो उपाय बताया उसको सुनकर आप हैरान रह जायंगे  

तांत्रिक ने जो उपाय बताया उसको सुनकर आप हैरान रह जायंगे  
via

जब बीमार सदन सिंह के इलाज के लिए तांत्रिक को बुलाया गया तो उसने बताया उस पर उसकी बेटी का साया है। और इससे छुटकारा पाने के लिए तुम्हें अपनी बेटी के साथ शारीरिक संबंध बनाने होंगे 

माँ खुद छोड़ने गई पिता के कमरे तक  

माँ खुद छोड़ने गई पिता के कमरे तक  
via

वो रोई चिल्लाई, गिडगिड़ाई मगर किसी ने उसकी बात नहीं मानी उसने कहा इससे तो अच्छा है, मैं जहर खा कर जान दे दूं। मगर किसी ने उसकी नहीं सुनी और खुद माँ ही उसे पिता के कमरे तक छोड़ने गई   

और फिर जो उस रात हुआ वह हर रात होता रहा 

और फिर जो उस रात हुआ वह हर रात होता रहा 
via

उसने बताया जो उस रात हुआ वह हार रात होता रहा। जिस दिन वह सोने से मना कर देती थी उस दिन माँ पापा दोनों मिलकर उसे मारते थे  

भाई ने भी की ज्यादती 

भाई ने भी की ज्यादती 
via

उसका भाई बाहर पढ़ता था, जब वह घर आया तब उसने अपने भाई को सारी बात बताई और मदद करने के लिए गुहार लगाई। मगर बजाय मदद करने के उसने भी उसे नौचना चालू कर दिया  

अगर आज भी आप खुद को इंसान कहते हो, तो अब से कहना बंद कर दो 

अगर आज भी आप खुद को इंसान कहते हो, तो अब से कहना बंद कर दो 
via

यह सिर्फ लखनऊ की घटना नहीं है, देश में न जाने कितनी बेटियों पर एसी भयानक दरिंदगी हो रही होगी और उसको अंजाम देने वाले भी और कोई नहीं उनके मामा,चाचा, फूफा ही होंगे। आखिर हम कैसे समाज में रह रहे हैं, क्या यही इंसानों का समूह है?      

SPONSORED