इस पंजाबी कांस्टेबल ने लिखा था ‘काला चश्मा’ पर भुला दिया बॉलीवुड ने 

काला चश्मा गाने के असली लेखक को क्यों भुला दिया बॉलीवुड ने?



इस पंजाबी कांस्टेबल ने लिखा था ‘काला चश्मा’ पर भुला दिया बॉलीवुड ने 
SPONSORED

हाल ही में रिलीज हुई फिल्म 'बार बार देखो' बॉक्स ऑफिस पर तो कमाल नहीं कर पाई है पर इतनी कमाई कर ली है जिससे सभी को फायदा जरुर हुआ है। इस फिल्म में कैटरिना और सिद्धार्थ मल्होत्रा ने बहुत अच्छी भूमिका निभाई है। इस फिल्म का एक गाना आज कल काफी चर्चा में है 'तैन्नू काला चश्मा जचदा ए..' यह गाना पहले भी आया हुआ है पर इस बार फिर इस फिल्म 'बार बार देखो' में यूज़ किया गया है। इस गाने पर वैसे तो कोई बवाल नहीं हुआ है पर इस गाने के असली लेखक का नाम उजागर जरुर हुआ है।  

इस गाने के लेखक को किसी ने उजागर नहीं किया और ऐसा ही होता आया है चाहे बॉलीवुड हो या कहीं भी गाना लिखता कोई है गाता कोई है और गाने वाले लिखने वाले से ज्यादा कमा लेते हैं। और लिखने वाला 10,000-11,000 में अपना गाना बेच देता है। ऐसा ही किया था 'तैनू काला चश्मा जचदा ए..' के लेखक ने। आइये जानते हैं कौन है इस गाने के असली कलाकार।

कौन है असली लेखक?

कौन है असली लेखक?

इस गाने को पहली बार गाया था पंजाब के एक 9वीं क्लास के स्टूडेंट ने जिनका नाम है अमरीक सिंह शेरा। इन्होने 15 साल की उम्र में इस गाने को लिखा था तब ये 9वीं क्लास में पढ़ते थे ।  

RELATED STORIES

अब क्या कर रहे हैं अमरीक?

अब क्या कर रहे हैं अमरीक?
via

जैसे ही सोशिअल मीडिया पर अमरीक का नाम आया तो लोग इनके बारे में जानने लगे आपको बता दें की अमरीक पंजाब पुलिस के एक हेड कांस्टेबल के रूप में कार्यरत हैं।

खुश है अमरीक।

खुश है अमरीक।
via

जब पंजाब के छोटे से गाँव तलवंडी, जालंधर से बात की गई तो उन्होंने कहा की मैं खुश हूँ जो मेरा 1991 का गाना आज बॉलीवुड की फिल्म में इस्तेमाल किया गया।  

कुछ दिन पहले पता चला मुझे।  

कुछ दिन पहले पता चला मुझे।  
via

अमरीक ने कहा की ड्यूटी में इतना व्यस्त हूँ की गाना सुनने का वक्त ही नहीं मिलता कुछ दिन पहले एक दोस्त ने कॉल करके मुझे बताया की मेरा लिखा हुआ गाना टीवी में चल रहा है में बहुत खुश हुआ। उस वक्त मैं इतना खुश हो गया की मुझे कुछ भी ख्याल नहीं रहा मैं सोचने लगा की अरे ये सब क्या हो रहा है?

4 महीने पहले बेचा था गाना।

4 महीने पहले बेचा था गाना।
via

अमरीक ने कहा की चार महीने पहले जालंधर की एक एंजेल रिकार्डिंग कम्पनी ने उनसे सम्पर्क किया और कहा की एक मुम्बई की एक सीमेंट कम्पनी को उसके गाने की जरूरत है और अमरीक से एक एग्रीमेंट साइन करवाया और 11,000 रूपए भी दिए। मुझे नहीं मालुम था की ये गाना किसी फिल्म के लिए ले रहे हैं। वैसे वो खुश हैं की उनका गाना फिल्मों में तो आया।

मैं चाहता हूँ की लोगों को पता चले की पंजाब के छोटे से गाँव वाले ने गाया है।

मैं चाहता हूँ की लोगों को पता चले की पंजाब के छोटे से गाँव वाले ने गाया है।
via

अमरीक ने कहा की मुझे कोई मलाल नहीं है की मेरा गाना किसी फिल्म में आया है पर मैं चाहता हूँ की लोगों को पता चले की पंजाब के एक छोटे से गाँव वाले ने इस गाने को लिखा है। अगर फिल्म बनाने वाले उसे बुलाते तो मेरा गाँव भी फेमस हो जाता और सबको पता चलता की ये गाना किसने लिखा है। खैर जो भी हुआ अच्छा हुआ है।  

पहले भी गाया जा चुका है इंग्लेंड में ये गाना।  

पहले भी गाया जा चुका है इंग्लेंड में ये गाना।  
via

यह गाना पहले भी हिट रहा है, एक कलाकार अर्शी ने इस गाने को इंग्लेंड में गाया था और उसके बाद ये गाना बहुत ही हिट हुआ था।

फिर से आ गया गानों की लिस्ट में 'काला चश्मा'। 

लोगों ने इस गाने को फिर से किसी फिल्म में देखकर अब अपने गानों की लिस्ट में शामिल कर लिया है। इस गाने ने पहले भी धूम मचाई थी और अबकी बार कैटरीना और सिद्धार्थ ने भी इस गाने पर थिरक कर लोगों को और आकर्षित कर दिया है।