SPONSORED

क्या आपने कभी सोचा, कैलक्यूलेटर और फोन के न्यूमेरिक कीपैड उलटे क्यों होते हैं?   

जाने इसके पीछे का राज़।

क्या आपने कभी सोचा, कैलक्यूलेटर और फोन के न्यूमेरिक कीपैड उलटे क्यों होते हैं?   
SPONSORED

, "0", "0" ,

तो यह है सिद्धांत 

तो यह है सिद्धांत 

तो सिद्धांत यह है सबसे अधिक उपयोग में आने वाले बटन निचे होते हैं।  

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

पुरानी मशीनें 

पुरानी मशीनें 
via

पुरानी मकैनिकल मशीनों में जीरो बीच में होता था, क्योंकि 0 का उपयोग बहुत ज्यादा होता है। डिजाईनरों ने सोचा अगर इसे बीच में रखा जाएगा तो ज्यादा आसानी होगी। उसके बाद 1,2,3 को रखा गया फिर 4,5,6 और अंत में 7,8,9 को जगह मिली। 

नए डिवाइस 

नए डिवाइस 
via

नए इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के डिजाईन में 0 को निचे लिया गया है और 1 को लेफ्ट कॉर्नर में तथा 9 को राईट कॉर्नर में रखा गया है। 

टेलिफोन 

टेलिफोन 
via

टच फोन के पहले टेलिफोन का अविष्कार हुआ, टेलीफोन में रोटेशन डायल था। बटन में 1 से 9 तक के सीरीयल नंबर थे, और आखरी में 0 था। और जब आपको किसी नंबर को डायल करना होता तो ऊँगली से नंबर को घुमाना पड़ता। 

टच फोन 

टच फोन 
via

मगर जब टच फोन का अविष्कार हुआ तब डिजाईनरों ने सोचा क्यों न इसका लेआउट चेंज कर दिया जाय, और इस डिजाईन को कैलक्युलैटर से बदला जाए। एक सामान्य टेस्ट करने के बाद डिजाईनरों ने सोचा क्यों न 1,2,3 को सबसे ऊपर ले जाया जाय 4,5,6 को उसके निचे और आखिर में 7,8,9 को रखा जाए। और यह काफी हद तक उन्हें ज्यादा फायदेमंद भी लगा। 

तो यह वजह थी फोर्मेट में बदलाव लाने की।    

SPONSORED