SPONSORED

जिया खान की मौत आत्महत्या नहीं हत्या है: फॉरेंसिक एक्सपर्ट

जिया खान के आत्महत्या मामले में आया मोड़। 

जिया खान की मौत आत्महत्या नहीं हत्या है: फॉरेंसिक एक्सपर्ट
SPONSORED

किसी भी व्यक्ति के लिए अपने हाथों से अपनी जिंदगी खत्म कर लेना बहुत आसान होता है, और साथ ही इसे सही भी नहीं ठहराया जा सकता है। आम लोगों की तरह ही फिल्म और टीवी इंडस्ट्री में कई सेलिब्रिटी इस तरह के गलत कदम उठा चुके हैं। इसी तरह के एक वाकये में जब फिल्म इंडस्ट्री की युवा अदाकारा जिया खान की मौत हुई तो इंडस्ट्री के साथ ही पूरा देश भी चौक गया था। इस मामले में जिया के एक्टर व बॉयफ्रेंड सूरज पंचोली का नाम भी सामने आया था। यूँ तो इस इस दुर्घटना को लगभग 3 साल हो चुके हैं परंतु हाल ही में इसके सम्बन्ध में एक नया सनसनीखेज खुलासा हुआ है। यह खुलासा ब्रिटेन के एक फॉरेंसिक एक्सपर्ट की रिपोर्ट में हुआ है।

तो आइये जानते हैं क्या है इस रिपोर्ट में:-

SPONSORED

3 जून 2013 को हुई थी जिया की मौत

3 जून 2013 को हुई थी जिया की मौत

ब्रिटिश अमेरिकन एक्ट्रेस जिया खान ने बॉलीवुड में निःशब्द, गजनी, हाउसफुल जैसी सफल फिल्मों में काम किया था। वे 3 जून 2013 को अपने जुहू स्थित फ्लैट में मृत पायी गई थी। वे फांसी पर लटकी हुई मिली थी इसलिए यह मामला अभी तक आत्महत्या का माना जा रहा था। जिया की मौत का मामला अभी सीबीआई के हाथों में है।


RELATED STORIES

आत्महत्या नहीं हत्या है

आत्महत्या नहीं हत्या है
via

लेकिन अब एक ब्रिटिश फोरेंसिक एक्सपर्ट ने दावा किया है कि यह आत्महत्या नही बल्कि हत्या का मामला है। ब्रिटिश एक्सपर्ट की इस रिपोर्ट से कहानी में नया मोड़ आ गया है। जैसन पायने-जेम्स नाम के इस एक्सपर्ट को जिया की माँ राबिया ने हायर किया था। इस रिपोर्ट का प्रकाशन 'मिरर' में किया गया है। 

राबिया ने करवाई है यह जांच

राबिया ने करवाई है यह जांच
via

जिया की माँ राबिया बार-बार यही दावा करती थी कि जिया आत्महत्या नहीं कर सकती हैं। इसी वजह से उन्होंने हाई कोर्ट में याचिका लगाकर यह मामला सीबीआई को सौंपने की अपील की थी। सीबीआई की जांच से नाखुश होकर राबिया ने इसकी फॉरेंसिक जांच इन ब्रिटिश एक्सपर्ट को सौंपी है।

दांतों की नहीं है चोट 

दांतों की नहीं है चोट 
via

इस जांच में जैसन का कहना है कि जिया के निचले होंठ पर लगी चोट दांतो की रगड़ से नहीं बने हैं। यह मुँह पर किसी के द्वारा मारने या हाथ रखने की चोट की तरह है।

दुपट्टे से नहीं बनते ऐसे निशान

दुपट्टे से नहीं बनते ऐसे निशान
via

साथ ही जिया के गले पर बने निशान भी दुपट्टे के खिसकने या उसकी गठान से नहीं बने हैं। किसी दुपट्टे से इस तरह के निशान नहीं बनते। इसे देखकर लगता है किसी ने पहले अन्य किसी कपड़े की सहायता से उनका गला दबाया फिर दुपट्टे से फाँसी लगा दी।

SPONSORED

जबड़े की चोट भी दुपट्टे से नहीं

जबड़े की चोट भी दुपट्टे से नहीं
via

इसके अलावा जिया के निचले जबड़े पर मिले चोट के निशान दुपट्टे में कई गठान बांधने की वजह से नहीं हुए हैं। यह निशान भी किसी और वस्तु से या किसी अन्य तरह के कपड़े से बने हैं।

भारतीय जांच पर उठाये सवाल

भारतीय जांच पर उठाये सवाल
via

उन्होंने भारतीय जांचकर्ताओं की जांच पर भी सवाल उठाये है। जैसन का कहना है कि इन जांचकर्ताओं ने बहुत से तथ्यों पर ध्यान नहीं दिया है और इस मामले की हत्या होने के एंगल से भी जांच नहीं की गई है। साथ ही उन्होंने मेडिकल रिपोर्ट्स को भी गलत तरीके से पेश किया है।

कोर्ट में करेंगे अपील

कोर्ट में करेंगे अपील
via

राबिया के वकील का कहना है कि इससे सिद्ध होता है कि भारतीय जांचकर्ताओं नें गहनता से मामले की जांच नही की है। हम कोर्ट से अपील करेंगे कि इन परिणामों पर भी विचार करें।

आदित्य पंचोली का कहना है 'पैसे देकर करवाई गई है जांच'

आदित्य पंचोली का कहना है 'पैसे देकर करवाई गई है जांच'
via

इस मामले में जिया के बॉयफ्रेंड सूरज पंचोली के पिता आदित्य पंचोली का कहना है कि कई जांच एजेंसी इस मामले की जांच कर चुकी हैं और सबने यही निष्कर्ष निकाला है कि यह आत्महत्या का मामला है। यह नयी जांच एक प्राइवेट एजेंसी द्वारा करवाई गई है और इसके पैसे भी दिए गए हैं। अब देखते हैं कि कोर्ट इस जांच के निष्कर्षों को मान्य करता है या नहीं।

SPONSORED