SPONSORED

'महाराष्ट्र की सबसे बड़ी क्रांति' मासूम बच्ची को इंसाफ दिलाने सड़क पर उतरे लाखों लोग

कपोर्दी की इस एक घटना ने हिला दिया पुरे देश को। 

'महाराष्ट्र की सबसे बड़ी क्रांति' मासूम बच्ची को इंसाफ दिलाने सड़क पर उतरे लाखों लोग
SPONSORED

क्रांति का संबंध आग से है, क्रांति का संबंध स्वाभिमान से है, क्रांति का संबंध ज़ज्बात से है, क्रांति का संबंध अधिकार से है। और जब-जब आम जनता के इन अधिकारों पर, जज़्बातों पर, स्वाभिमान पर हमला होता है तब-तब एक नई क्रांति जन्म लेती है।

दरअसल क्रांति एक ज़रिया है, सत्ता के नशे में चूर व्यक्तियों को लोकतंत्र की असल शक्ति दिखाने का। इसी असल शक्ति का एहसास इन दिनों महराष्ट्र की जनता महाराष्ट्र की सरकार को दिला रही है। जानते हैं क्या है पूरा मामला।  

SPONSORED

14 साल की नाबालिग के साथ बलात्कार कर की हत्या

14 साल की नाबालिग के साथ बलात्कार कर की हत्या

13 जुलाई ही वह काला दिन था जब 3 लोगों के द्वारा एक 14 साल की लड़की के साथ बेरहमी से बलात्कार किया गया था और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। दिल को दहला देने वाली यह घटना महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में एक छोटे से गाँव कपोर्दी की है।

RELATED STORIES

लड़की अपनी दादी के यहाँ मसाला लेने जा रही थी

लड़की अपनी दादी के यहाँ मसाला लेने जा रही थी
via

लड़की अपने दादी के घर कुछ मसाले लेने के लिए जा रही थी। तभी तीनों बदमाशो ने उसका अपहरण कर लिया उसके बाद तो उन्होंने हैवानीयत की सारी हदों को तोड़ दिया। पहले तो उन्होंने उस मासूम के साथ बेरहमी से बलात्कार किया फिर उस लड़की की हत्या कर दी।

आरोपियों ने दी परिवार वालों को धमकी

आरोपियों ने दी परिवार वालों को धमकी
via

इस भयानक दर्द देने वाले मामले में आरोपी पिछड़े वर्ग के थे और वह उनके अधिकारों का दुरुपयोग कर रहे थे। उन्होंने पीड़िता के माता-पिता को धमकी दी कि वे अगर उनके खिलाफ बलात्कार और हत्या का मामला दर्ज करवायेंगे तो वह उन पर दलित शोषण का झूठा मुकदमा लगा देंगे।

इस घटना ने मराठा समाज को झकझोर कर रख दिया

इस घटना ने मराठा समाज को झकझोर कर रख दिया
via

यह घटना मराठा समाज को झकझोरने के लिए काफी थी। नाबालिग के साथ बेरहमी से बलात्कार करके जिन्होंने उसकी हत्या की थी वही आरोपी नाबालिग के परिवार को दलित शोषण के झूठे आरोप में फंसाने की धमकी दे रहे थे।

SPONSORED

बच्ची को न्याय दिलाने के लिए पूरा मराठा समाज साथ आया

बच्ची को न्याय दिलाने के लिए पूरा मराठा समाज साथ आया
via

इस घटना ने मराठा समुदाय के बीच एक लहर पैदा कर दी। सभी लोग बच्ची को न्याय दिलाने साथ आए थे, यह किसी पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए बीते एक दशक का सबसे बड़ा मोर्चा था। इस मोर्चे में लड़की के लिए न्याय की मांग और दलित शोषण अधिनियम में परिवर्तन की मांग की गई है। ताकि इसका अपराधियों द्वारा दुरुपयोग न हो। साथ ही साथ आर्थिक रूप से कमजोर मराठों के लिए आरक्षण की भी मांग उठी।

एक मराठा..लाख मराठा का नारा गूंजा

एक मराठा..लाख मराठा का नारा गूंजा
via

हर जिले में एक विशेष दिन पूरे जिले को बंद कर दिया गया था और इस केस में सख्ती बरतने की मांग को लेकर मराठा समुदाय जिला मजिस्ट्रेट और कलेक्टर (आईएएस) के पास गए। मोर्चे में पुरे समय "एक मराठा ... .लाख मराठा" का नारा गूंजा। इस तरह उन्होंने अपनी एकता को विश्व के सामने मजबूत स्थति में रखा।

1 करोड़ 60 लाख लोग निकले सड़कों पर

1 करोड़ 60 लाख लोग निकले सड़कों पर
via

अहमदनगर जिला मोर्चा में कुल 30 लाख लोग सड़कों पर उतरे। नासिक जिले के 50 लाख लोगों ने शोषण कानून के अत्याचार के खिलाफ नारेबाजी की। पुणे जिले में 80 लाख लोगों ने रविवार को अपने घरों को छोड़ सड़कों का रुख किया ताकि पीड़िता को इंसाफ मिल सके। इस तरह यह सबसे बड़ा मराठा क्रांति का मोर्चा बन गया। अगर पूरा देश इन अत्याचारों के खिलाफ ऐसे ही सामने आता रहेगा तभी अत्याचार व अपराध सिरे से मिट पायेगा।

SPONSORED