एक्स-सेक्स वर्कर की यह दर्दभरी कहानी सुनकर आपकी आँखें भी हो जाएंगी नम

एक्स-सेक्स वर्कर 'ब्री ओल्सोन' की अनकही कहानी। 

एक्स-सेक्स वर्कर की यह दर्दभरी कहानी सुनकर आपकी आँखें भी हो जाएंगी नम
SPONSORED

"पोर्न इंडस्ट्री एक ऐसी इंडस्ट्री है जहाँ कोई महिला जितना ज़्यादा कामयाब होती जाती है, उसे उतना ही ज़्यादा अपनी पूरी ज़िन्दगी भुगतना पड़ता है।"

19 साल की कच्ची उम्र में उस लड़की ने पोर्न की दुनिया में कदम रखा और यहाँ पैसों की बारिश देख यहीं की हो गयी। फिर कुछ समय बाद उसे एहसास हुआ कि इस रंगीन दुनिया में पैसा तो बहुत है पर यह आपको असली दुनिया से बिलकुल अलग-थलग कर देती है। आपके पीछे कोई समाज नहीं होता जो आपका साथ दे।

इस बात का एहसास होने पर 6 साल बाद उसने इस रंगीन दुनिया को अलविदा कहने का निश्चय किया। 26 साल की उम्र में उसने यह सबकुछ छोड़कर एक आम इंसान की तरह समाज का हिस्सा बनने के लिए कदम बढ़ाए। वह चाहती थी कि लोग उसके बारे में राय बनाने के बजाय उसे अपनाए। पर समाज और दुनिया की प्रतिक्रिया देखकर वह हैरान हो गयी। उसके आत्मसम्मान को धक्का लगा।

वह लड़की है पूर्व पोर्न स्टार ब्री ओल्सोन। जिसने पोर्न इंडस्ट्री को छोड़कर मुख्य धारा में आने का निर्णय लिया और समाज ने उसे इसकी सजा दी। आइये सुनते हैं उनका दर्द उन्हीं की जुबानी। 

वीडियो में सुनाई ओल्सोन ने अपनी कहानी

 वीडियो में सुनाई ओल्सोन ने अपनी कहानी

ओल्सोन, मातन उजिएल के अभियान 'रियल वीमेन, रियल वर्ल्ड'  सीरीज़ के वीडियो में नज़र आयी थी। इस वीडियो में ही उन्होंने अपनी कहानी बयां की है। इस अभियान का मकसद महिलाओं द्वारा सही जाने वाली तकलीफ़ों को दुनिया के सामने लाना है।

RELATED STORIES

सही निर्णय का मिला ऐसा सिला 

सही निर्णय का मिला ऐसा सिला 

ओल्सोन का कहना है कि लोग मुझे इस तरह की नज़रो से देखते हैं कि जब भी मैं बाहर निकलूँ तो मुझे लगता है मेरे माथे पर 'स्लट' लिखा हुआ है।

शब्दों से करती है दुनिया वार

शब्दों से करती है दुनिया वार
via

लोग मुझे इतने तरह के नामों से बुलाते थे कि आप उन्हें किसी रिबन पर प्रिंट करवा कर उस रिबन को मेरे पूरे शरीर पर लपेट दें फिर भी रिबन ख़त्म ना हो पाएगा क्योंकि इतने नाम मुझे दिए गए हैं। जब-जब भी मैं बाहर जाती तो मुझे ऐसा ही महसूस होता है।

इतने तीखे शब्द

इतने तीखे शब्द
via

मुझे बाहर निकलकर खुद को इस तरह चोट पहुँचाने से आसान खुद को घर मैं कैद करके रखना लगता है। मैं कई-कई दिन और हफ़्तों तक घर से बाहर नहीं निकलती।

दुनिया नहीं कर पाती आपको स्वीकार

दुनिया नहीं कर पाती आपको स्वीकार

मैने सही बदलाव को चुना है पर दुनिया फिर भी मुझे मुख्य धारा में स्वीकार ही नहीं कर पा रही है। दुनिया आखिर क्यों आपके भूतकाल को भुलाकर आप जो अभी कर रहे हैं उसे प्रोत्साहित नहीं कर पाती?

लौट कर नहीं जाना चाहती

लौट कर नहीं जाना चाहती
via

मैं अब भी उस रंगीन दुनिया मे वापस जा सकती हूँ और हर हफ्ते $20,000 कमा सकती हूँ। पर मैं ऐसा नहीं कर रही क्योंकि इससे ज्यादा मैं यह चाहती हूँ कि मेरी अभद्र तस्वीरें इन्टरनेट पर न हो।

मैं जैसा चाहती हूँ वैसा नहीं हो सकता बर्ताव

मैं जैसा चाहती हूँ वैसा नहीं हो सकता बर्ताव

मेरी तमन्ना है कि लोग मेरे साथ एक शादीशुदा रजिस्टर्ड नर्स जिसके बच्चे हैं, उसकी तरह व्यवहार करे। पर मैं जानती हूँ ऐसा कभी नहीं हो सकता, इसलिए मैं ऐसा सोच भी नही सकती।

कोई नहीं बनना चाहता दोस्त

कोई नहीं बनना चाहता दोस्त
via

मैं जब घर से बाहर निकली तो मैनें नए दोस्त बनाने चाहे। पर फिर मैं बहुत निराश हो गई जब मुझे पता लगा कि वो मेरे दोस्त बनना ही नहीं चाहते।

मेरे लिए नहीं बनी दुनिया

मेरे लिए नहीं बनी दुनिया
via

मुझे लगता ही नहीं है कि बाहर यह जो दुनिया है, समाज है, वो मेरे लिए बना है। लोग मुझे एक्स सेक्स वर्कर की तरह नहीं देखते। वे मुझे इस तरह देखते हैं जैसे मैं समाज को या बच्चों को कोई नुकसान पंहुचा रही हूँ।

लोगों का नज़रिया है गलत

लोगों का नज़रिया है गलत
via

मैं नहीं कहती कि पोर्न गलत है। पर पोर्न फिल्में करने पर दुनिया का और समाज का आपके प्रति नज़रिया गलत हो जाता है। 

युवा लड़कियों के लिए है यह सन्देश

युवा लड़कियों के लिए है यह सन्देश
via

मैं युवा लड़कियों को यही कहना चाहूंगी कि पोर्न न करें। मैं समझती हूँ कि आप अपनी लैंगिकता को गले लगाना चाहते हैं। पर ऐसा करने से आपकी ज़िन्दगी बद से बदतर हो जाती है।