मीरा के जैसे लता जी ने भी पीया था ज़हर, लता जी के जीवन के कुछ चौंका देने वाले तथ्य

लता जी के जन्मदिवस पर आइये एक नजर डालते हैं उनकी ज़िन्दगी पर। 

मीरा के जैसे लता जी ने भी पीया था ज़हर, लता जी के जीवन के कुछ चौंका देने वाले तथ्य
SPONSORED

स्वर कोकिला लता मंगेशकर जी आज 86 साल की हो चुकी हैं। कहते हैं उनके गले में माँ सरस्वती निवास करती हैं। उन्होनें अपनी आवाज़ से कई लोगों के दिल में मोहब्बत पैदा की। कई लोगों के दिल में देश भक्ति का ज़ज्बा ज़गाया तो कई पत्थर दिल लोगों की आँखों में भी प्यार के आँसू सज़ा दिए।

अपनी आवाज़ से सब के दिलों में जगह बनाने वाली लता मंगेशकर जी की उपलब्धि से कुछ लोग थे जो जलते भी थे। लोग केवल उठता हुआ सिर देखते हैं मगर उस सिर को उठाने के लिए जो पैरों के तलों में छाले पड़े हैं, उन्हें कोई नहीं देखता।

इंदौर में जन्मी थी लता जी

इंदौर में जन्मी थी लता जी

वह कहते हैं न कुछ लोग जन्म लेते ही हैं कुछ अलग करने के लिए। वैसे ही स्वर कोकिला लता मंगेशकर जी का जन्म 28 सितंबर, 1929 को मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था। उनके पिता पंडित दीनानाथ मंगेशकर रंगमंच के कलाकार और गायक थे। लता जी को बचपन से ही तालीम संगीत की ही दी गई जिसके परिणामस्वरूप उन्हें संगीत से प्यार हो गया।

RELATED STORIES

लता जी अब तक 30,000 गाने गा चुकी हैं

लता जी अब तक 30,000 गाने गा चुकी हैं
via

लता जी ने अपना पहला गाना मात्र 13 साल की उम्र में एक मराठी फिल्म के लिए गाया था। फिर तो कारवां ऐसा चला कि कई रिकॉर्ड बनते गए और कई रिकॉर्ड टूटते गए।   

भारत की असली रत्न लता मंगेशकर 

भारत की असली रत्न लता मंगेशकर 
via

लता जी की प्रतिभा को सम्मानित करना सूरज को दिया दिखाने जैसा होता है। भारत सरकार ने लताजी को पद्म भूषण (1969) और भारत रत्न (2001) से सम्मानित किया। बॉलीवुड में भी उन्हें 'राष्ट्रीय पुरस्कार', 'दादा साहेब फाल्के पुरस्कार' और 'फिल्म फेयर' जैसे कई अवार्ड्स से नवाजा जा चुका है। 

लता जी को मारने की साजिश की गई थी

लता जी को मारने की साजिश की गई थी
via

लता जी जब कामयाबी के शिखरों को छू रही थी तब कोई था जिसे उनकी यह कामयाबी रास नहीं आ रही थी।1962 में जब लता 32 साल की थी तब उन्हें स्लो प्वॉइजन दिया गया था। लता की बेहद करीबी पद्मा सचदेव ने इसका जिक्र अपनी किताब 'ऐसा कहां से लाऊं' में किया है। जिसके बाद राइटर मजरूह सुल्तानपुरी कई दिनों तक उनके घर आकर पहले खुद खाना चखते, फिर लता को खाने देते थे। हालांकि यह किया किसने इसका पता नहीं चल पाया।  

बहुत ही कम उम्र में उठानी पड़ी घर की जिम्मेदारी 

बहुत ही कम उम्र में उठानी पड़ी घर की जिम्मेदारी 
via

वैसे तो लता जी के पिता जी रंगमंच के जाने माने कलाकार थे। गोवा में आम और काजू के बागानों के अलावा एक पहाड़ भी खरीद रखा था। सपना तो पुर्तगालियों से पूरा गोवा ही खरीदने का था। मगर नशे की ऐसी बुरी लत लगी की सब ख़त्म हो गया और छोटी सी लता के कंधो पर बहुत बड़ी-बड़ी जिम्मेदारियां आ गई।   

मधुबाला फिल्म साइन करने से पहले शर्त रखती थी उनके लिए लता ही गाएं 

मधुबाला फिल्म साइन करने से पहले शर्त रखती थी उनके लिए लता ही गाएं 
via

अपने समय की जानी मानी अदाकारा मधुबाला हर फिल्म साइन करने के पहले एक ही शर्त रखती थी कि उनके लिए लता जी ही गाना गाएं। उन्हें लगता था लता जी की आवाज उन पर बहुत सूट होती है।   

नाम बदल कर फिल्मों में म्युज़िक भी दिया

नाम बदल कर फिल्मों में म्युज़िक भी दिया
via

लता जी ने कई फिल्मों में आनंद घन के नाम से म्युज़िक भी दिया है।  

वे कभी पढ़ नही पाई, मगर दुनिया की 6 यूनिवर्सिटी ने उन्हें सम्मानित किया

वे कभी पढ़ नही पाई, मगर दुनिया की 6 यूनिवर्सिटी ने उन्हें सम्मानित किया
via

"मेहनत इतनी ख़ामोशी से करो कि सफलता शोर मचा दे" लता जी ने भी यही किया। जिम्मेदारियों के चलते वे कभी स्कूल तो नहीं जा पाई मगर उन्होंने अपना काम इतनी लगन से किया कि दुनिया की टॉप 6 यूनिवर्सिटीज ने उन्हें डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया।

अपनी आवाज़ को मीठा बनने के लिए खाती हैं हरी मिर्ची

अपनी आवाज़ को मीठा बनने के लिए खाती हैं हरी मिर्ची
via

लता जी अपनी आवाज़ को सुरीली और मीठी बनने के लिए ढेर सारी हरी मिर्ची खाती हैं। खासकर दुनिया की सबसे तीखी कोल्हापुरी मिर्ची। 

हमें जो तुम्हारा सहारा न मिलता, भंवर में ही रहते किनारा न मिलता

हमें जो तुम्हारा सहारा न मिलता, भंवर में ही रहते किनारा न मिलता
via

हमें जो तुम्हारा सहारा न मिलता, भंवर में ही रहते किनारा न मिलता! दिखाई न देती अँधेरे में ज्योति, अगर तुम न होती- अगर तुम न होती। संगीत की इस देवी को अपने इस अनूठे बेटे की ओर से जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनायें। आप हज़ारों साल जियें।