SPONSORED

13 साल कि बच्ची की मौत से हुआ पूरा शहर आक्रोशित, जाने क्यों हुई मौत  

जाने क्यों हुई आराधना की मौत। 

SPONSORED

, 13 , - 8 , 10 , 3

क्या होता है चातुर्मास 

क्या होता है चातुर्मास 

चातुर्मास पर्व जैन धर्म का एक अहम पर्व होता है। इस दौरान एक ही स्थान पर रहकर साधना और पूजा पाठ किया जाता है। 

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

क्यों मनाया जाता है चातुर्मास 

क्यों मनाया जाता है चातुर्मास 
via

जैन धर्म के अनुसार बारिश के मौसम में कई प्रकार के कीड़े जो आंखों से दिखाई नहीं देते, वह सबसे ज़्यादा सक्रिय हो जाते हैं। ऐसे में मनुष्य के अधिक चलने-उठने के कारण इन जीवों को नुकसान पहुंच सकता है। जीवों को नुकसान से बचाने के लिए उपवास किया जाता है। 

अधीक संख्या में लोग करते हैं उपवास 

अधीक संख्या में लोग करते हैं उपवास 
via

चातुर्मास में अधिक संख्या में लोग उपवास करते हैं। यहाँ तक की जैन धर्म का सबसे बड़ा पर्व पर्यूषण भी इसी समय मनाया जाता है। 

आराधन ने भी किया उपवास 

आराधन ने भी किया उपवास 
via

13 साल की आराधना, कक्षा 8वीं की छात्रा हैं। चातुर्मास के दौरान, आराधना ने 68 दिन के लिए उपवास किया था।  

लोगों का था हुजूम 

लोगों का था हुजूम 
via

जिस समय आराधना उपवास कर रही थी, उस वक़्त आराधना के घर पर लोगों का तांतां बँधा रहता था। कोई उसके साथ सेल्फी लेता तो कोई इस बच्ची के उपवास करने पर तारीफों के पुल बाँधता। 

होनी को कौन टाल सकता है 

होनी को कौन टाल सकता है 
via

3 अक्टूबर को आराधना ने 10 हफ़्तों का उपवास पूरा किया और जब पूरा परिवार ख़ुशी मना रहा था, तब अचानक ही आराधना की तबियत बिगड़ी और उन्हें अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों का कहना था के अधिक समय भूख-प्यास की वजह से आराधना की मौत हो गई।   

क्यों करवाया बच्ची से उपवास 

क्यों करवाया बच्ची से उपवास 
via

आराधना की मौत के बाद शहर के सभी नागरिक इस बात पर नाराज़ है कि इतनी कम उम्र में आराधना के घरवालों ने उसे उपवास क्यों करने दिया। लेकिन फिर भी होनी को कौन टाल सकता है। ईश्वर आराधना की आत्मा को शांति दें और उनके घर वालो को सब्र दें। 

SPONSORED