महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी धोनी पर धोखाधड़ी का केस दर्ज

जानें क्या जुर्म किया महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी ने। 

महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी धोनी पर धोखाधड़ी का केस दर्ज
SPONSORED

भारतीय एकदिवसीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह की पत्नी साक्षी धोनी पर धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। इस मामले में चार अन्य लोगों के खिलाफ भी निरवाणा कंट्री निवासी डेनिज अरोड़ा ने सुशांत लोक थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। मामला कंपनी में शेयर खरीदने के लिए एग्रीमेंट करने के बाद पूरी राशि नहीं देने से संबंध में है। आइये जानते हैं पूरा मामला क्या है... 

साक्षी धोनी के खिलाफ नामज़द रिपोर्ट 

साक्षी धोनी के खिलाफ नामज़द रिपोर्ट 

भारतीय टी 20 क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी धोनी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ है। करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी मामले में साक्षी को नामजद किया गया है।

RELATED STORIES

स्पोर्ट्स वर्ल्ड प्राइवेट लिमिटेड ने किया केस 

स्पोर्ट्स वर्ल्ड प्राइवेट लिमिटेड ने किया केस 
via

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुरुग्राम (गुड़गांव) के निरवाना कंट्री निवासी डेनिस अरोड़ा स्पोर्ट्स वर्ल्ड प्राइवेट लिमिटेड की शिकायत पर साक्षी और तीन अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

कंपनी की निदेशक है साक्षी धोनी 

कंपनी की निदेशक है साक्षी धोनी 
via

कंपनी स्पोर्ट्स फिट वर्ल्ड प्राइवेट लिमिटेड में रीति एमएसडी अलमोड प्राइवेट लिमिटेड का शेयर है। इस कंपनी में क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी सिंह धोनी, अरुण पांडेय, शुभावती पांडेय एवं प्रतिमा पांडेय निदेशक हैं। यह कंपनी एक जिम चलाती है।

आपसी अनबन के कारण ख़रीदे थे शेयर 

आपसी अनबन के कारण ख़रीदे थे शेयर 
via

बताया जा रहा है कि आपसी अनबन के कारण रीति एमएसडी अलमोड़ प्राइवेट लिमिटेड के निदेशकों ने अरोड़ा का शेयर खरीदने के लिए एग्रीमेंट कर लिया था।

पूरे पैसे नहीं दिए गए अरोड़ा को 

पूरे पैसे नहीं दिए गए अरोड़ा को 
via

डेनिज अरोड़ा का आरोप है कि एग्रीमेंट लगभग 11 करोड़ रुपए में हुआ था। उन्हें केवल दो करोड़ 25 लाख रुपए दिए गए, बाकी राशि नहीं दी गई, 31 मार्च तक पूरी राशि देनी थी।

अरुण पांडे ने कहा शेयर हमारे पास आया ही नहीं 

अरुण पांडे ने कहा शेयर हमारे पास आया ही नहीं 
via

वहीं, रीति एमएसडी अलमोड प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक अरुण पांडेय का कहना है कि जितनी राशि दी गई उसके हिसाब से भी शेयर उनकी कंपनी के पास नहीं आया है। उनका कहना है कि जब शेयर उनके पास आया ही नहीं है, फिर बाकी राशि नहीं देने पर धोखाधड़ी कैसे हुई।

एक साल पहले ही छोड़ दी थी साक्षी ने कंपनी 

एक साल पहले ही छोड़ दी थी साक्षी ने कंपनी 
via

वहीं, रीति एमएसडी अलमोड़ प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक अरुण पांडेय का यह भी कहना है कि साक्षी सिंह एक साल पहले तक निदेशक थीं, फिर उनके खिलाफ एफआईआर कैसे दर्ज करा दी गई।

साक्षी धोनी ने नहीं दी इस पर कोई पुष्टि 

साक्षी धोनी ने नहीं दी इस पर कोई पुष्टि 
via

साक्षी ने हालांकि अपने ऊपर लगे आरोपों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है और अभी तक इस केस में साक्षी की संलिप्तता की पुष्टि नहीं हो पाई है।