दलेर मेंहदी दिखे पूरे परिवार के साथ, आइए जानते हैं इनके बारे में कुछ बातें

दलेर मेंहदी से जुड़ी कुछ बातें। 

दलेर मेंहदी दिखे पूरे परिवार के साथ, आइए जानते हैं इनके बारे में कुछ बातें
SPONSORED

तुनक तुनक तुन, तुनक तुनक तुन, तुनक तुनक तुन दा दा दा 

ढोलना वजे तुम्बे वाल तार, सुने दिल दी पुकार, आजा कर ले ये प्यार...

मुझे पूरा यक़ीन है कि इस गाने को जब भी आप सुनते होंगे, तो पैर खुद बा खुद इसकी धुनों पर नाचने को मजबूर हो जाते हैं। यह उन गानों में से है जिसका 'चार्म' कभी ख़त्म नहीं होता और हो भी कैसे सकता है, आखिर गया भी दलेर मेंहदी ने है। 

ख़ैर आपको बता दें कि दलेर पहली बार अपने परिवार के साथ सिओनी पहुँचे, दशहरे पर परफॉर्म करने। आइए जानते हैं दलेर और उनके परिवार के बारे में। 

दलेर और तरनप्रीत 

Loading...

RELATED STORIES

दलेर और तरनप्रीत कौर मेंहदी की शादी को एक अरसा बीत चुका है। इन्हें देखकर यह अंदाज़ा लगाना बहुत मुश्किल है कि यह 4 बच्चों के माता पिता हैं। 

दोस्ती का रिश्ता है दोनों में 

Loading...

दलेर के लिए उनकी बीवी का साथ सबसे ख़ुशी की बात है। पति-पत्नी से ज़्यादा यह एक दूसरे के अच्छे दोस्त हैं। 

मिर्ज़्या मूवी के दौरान 

Loading...

मिर्ज़्या मूवी के म्यूजिक लॉन्च के दौरान, दलेर अपनी बेटी रुबाब दलेर के साथ। 

पहली बार परिवार के साथ 

पहली बार परिवार के साथ 

सिओनी में दशहरा उत्सव के दौरान पहली बार दलेर मेंहदी सार्वजनिक रूप से अपने परिवार के साथ नज़र आए। 

सूफी संगीत से है लगाव 

Loading...

उस्ताद ग़ुलाम अली खान साहब के साथ मुलाक़ात करते हुए दलेर मेंहदी। दलेर कहते हैं कि सूफी संगीत उनकी रूह में बसता है।

दलेर मेंहदी के बड़े बेटे गुरदीप 

दलेर मेंहदी के बड़े बेटे गुरदीप 

गुरदीप ने अपनी NRI मंगेतर जेसिका से शादी की है। दलेर और उनके परिवार ने ख़ुशी-ख़ुशी अपनी बहु को स्वीकारा है।

और यह नन्ही परी 

Loading...

दलेर अपनी छोटी बेटी रुबाब के साथ सबसे करीब हैं। और यह नन्ही सी बच्ची वाक़ई में कितनी मासूम है। 

भाई-भाई 

Loading...

दलेर मेंहदी अपने छोटे भाई मीका सिंह के साथ और दोनों भाइयों के साथ हैं अदनान सामी भी।

संगीत है इनकी दुनिया 

Loading...

हमें इनके गानों में इसलिए मज़ा आता है क्योंकि यह संगीत को भरपूर एन्जॉय करते हैं। 

दलेर जीते हैं सादा जीवन 

Loading...

दलेर मेहंदी एक बहुत ही सादा सा जीवन जीते हैं और अपने घर पर इन्होंने 70 से ज़्यादा गाय पाल रखी है। दलेर को उनके आगे के जीवन के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं।