SPONSORED

फ्लाइट में अपना मोबाइल 'एयरप्लेन मोड' में ना करने का ऐसा बुरा हो सकता है परिणाम 

क्यों जरूरी है फ्लाइट में अपने फोन को 'एयरप्लेन मोड' में रखना। 

फ्लाइट में अपना मोबाइल 'एयरप्लेन मोड' में ना करने का ऐसा बुरा हो सकता है परिणाम 
SPONSORED

आपके पास कोई भी स्मार्टफोन हो। उसमे बहुत सारे फीचर्स हो या काम फीचर्स हो। वो बहुत ज्यादा महंगा हो या बजट स्मार्टफोन हो। एक फीचर तो उसमे होगा ही होगा। वो है आपके मोबाइल को 'एयरप्लेन मोड' में करना। यह फीचर यूँ ही नहीं दिया गया है, यह तो आप भी जानते हैं। अक्सर फ्लाइट में सफर करते हुए आपको अपना फ़ोन एयरप्लेन मोड पर करने के इंस्ट्रक्शन्स दिए जाते हैं।

क्या आपने कभी सोचा है ऐसा करना क्यों जरुरी होता है? ऐसा करने के क्या फायदे या नुक़सान हैं?

तो आइये आज हम ही आपको बता देते हैं इसकी वजह। 

SPONSORED

ऐसा सोचते हैं लोग

ऐसा सोचते हैं लोग

कुछ लोगों को लगता है कि मोबाइल एयरप्लेन मोड पर करने का कोई फायदा नहीं है। इसलिए वे ऐसा करते भी नहीं है।

RELATED STORIES

समय की बर्बादी

समय की बर्बादी
via

कुछ लोगो को तो यह समय की बर्बादी भी लगती है।

प्लेन क्रैश थोड़ी होगा

प्लेन क्रैश थोड़ी होगा
via

कुछ लोगों को लगता है मोबाइल एयरप्लेन मोड पर कर देने से कौन सा प्लेन क्रैश हो जाएगा। वैसे वाकई प्लेन क्रैश होता भी नहीं है।

तो फिर क्या है इसकी वजह

तो फिर क्या है इसकी वजह
via

पहली वजह तो यह है कि आप 10,000 फ़ीट कि ऊँचाई पर हैं। जिस वजह से आपके मोबाइल के सिग्नल्स कई टावर्स से बाउंस बैक होते हैं और आपको बहुत तगड़े सिग्नल मिलते हैं।

तो इससे क्या?

तो इससे क्या?
via

इसका नुक़सान यह होता है कि इस वजह से ग्राउंड पर नेटवर्क में ट्रैफिक बढ़ जाता है।

पायलट को होती है परेशानी

पायलट को होती है परेशानी
via

अगर आपका फ़ोन नार्मल मोड पर है तो यह रेडियो सिग्नल्स को बधित करता है और इससे पायलट और ट्रैफिक कंट्रोलर को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

SPONSORED

क्या परेशानी होती है?

क्या परेशानी होती है?
via

आपने कभी ना कभी स्पीकर्स, रेडियो या टीवी के पास मोबाइल रखने पर एक अजीब सी आवाज सुनी ही होगी। बस वैसी ही आवाज़ पायलट को आती है। जो उसे परेशान कर सकती है।

रेडियो प्रदूषण

रेडियो प्रदूषण
via

इस सम्बन्ध में एक पायलट का कहना है कि अगर एक बार में 50 लोग अपना मोबाइल फ्लाइट मोड पर नहीं रखते हैं तो इससे बहुत ज्यादा मात्रा में 'रेडियो प्रदूषण' होगा।

बैटरी की खपत होती है ज्यादा

बैटरी की खपत होती है ज्यादा
via

एक इंजीनियर का यह भी कहना है कि अगर आपके मोबाइल को टॉवर से वीक सिग्नल मिलते हैं तो वो अपने सिग्नल को एम्प्लिफाय करके ज्यादा रिस्पांस लेने की कोशिश करता है। जिससे बैटरी जल्दी खत्म हो जाती है।

ध्यान दें अगली बार

ध्यान दें अगली बार
via

अब आपको वजह पता चल ही गई है तो अगली बार कोशिश कीजिए कि आपकी वजह से किसी और को परेशानी न हो।

SPONSORED