SPONSORED

भूल कर भी ना सुनें यह गाना, इसे सुनकर कई लोग कर चुके हैं ख़ुदकुशी 

इस गाने को सुनकर लोग करते हैं आत्महत्या। 

भूल कर भी ना सुनें यह गाना, इसे सुनकर कई लोग कर चुके हैं ख़ुदकुशी 
SPONSORED

यह कहानी पढ़ने से पहले मैं भी यही सोचती थी कि आत्म हत्या करने वाले लोग वह होते हैं जो जीवन से परेशान हो जाते हैं। यह तो जैसे आम सी बात हो गई है कि अख़बार पढ़ते-पढ़ते इन ख़बरों पर नज़र चली ही जाती है। कोई फांसी लग कर मर गया, किसी ने ज़हर खा कर मौत को गले लगा लिया तो किसी ने हाथ की नस काट ली। लेकिन मैं आपसे कहूँ कि लोग गाना सुनकर भी मर जाते हैं, तो क्या आप मेरा यक़ीन करेंगे? शायद नहीं! 

मेरे लिए भी इस बात के बारे में लिख पाना कुछ ऐसा ही था। लेकिन फिर पता चला की यह सत्य है। यह कहानी है एक ऐसे सॉन्ग राइटर की जो परेशानियों से गुज़र रहा था। 34 साल के सेरेस हंगरी के रहने वाले थे, जिन्होनें यह गाना 1933 में लिखा था और आगे क्या हुआ आप खुद पढ़ लीजिए।

SPONSORED

कौन थे सेरेस!

कौन थे सेरेस!

रेज़सो सेरेस हंगरी में जन्मे एक ऐसे व्यक्ति हैं जो बचपन से ही बहुत होनहार थे। लेकिन गरीबी के चलते ज़्यादा आगे नहीं जा पाए। रेज़सो सेरेस का बचपन बहुत सख्त दौर से गुज़रा और रेज़सो की यह सारी पीड़ा उनके अंदर घर करती गई।

RELATED STORIES

प्यार में पड़े रेज़सो सेरेस  

प्यार में पड़े रेज़सो सेरेस  
via

इश्क़ पर कहाँ किसी का ज़ोर चलता है। रेज़सो सेरेस भी अपना दिल एक लड़की पर गंवा बैठे और प्यार में पड़ गए। रेज़सो ज़िन्दगी की तकलीफों से जूझ रहे थे और यहाँ एक और मोहब्बत का रोग लग गया। हाँ! मोहब्बत किसी रोग से कम है क्या?

नहीं रास आई मोहब्बत 

नहीं रास आई मोहब्बत 
via

लेकिन मोहब्बत हर किसी को रास नहीं आती और अगर मोहब्बत सच्ची हो, तो फिर मिलन अधूरा ही रहता है। रेज़सो सेरेस की गर्लफ्रेंड चाहती थी कि वो कोई छोटी-मोटी नौकरी कर लें। लेकिन रेज़सो की रूचि संगीत में थी। इसी बात को लेकर उनकी गर्लफ्रेंड उन्हें छोड़ गई। 

गर्लफ़्रेन्ड ने भी की थी आत्महत्या 

गर्लफ़्रेन्ड ने भी की थी आत्महत्या 
via

यह बात कितनी सच है यह तो कोई नहीं जानता लेकिन माना जाता है कि रेज़सो सेरेस से बिछड़ने के बाद उनकी गर्लफ़्रेन्ड ने आत्म हत्या कर ली और उनकी गर्लफ़्रेन्ड के शव के पास एक नोट मिला था जिसपर दो ही शब्द लिखे हुए थे "Gloomy Sunday"

गर्लफ्रेंड की जुदाई में लिखा गाना 

गर्लफ्रेंड की जुदाई में लिखा गाना 
via

रेज़सो सेरेस भी यह दर्द सह नहीं पाए और गर्लफ़्रेन्ड की जुदाई में उन्होंने यह गाना लिखकर यूँ ही अपनी दर्द भरी आवाज़ में गा दिया। यह गाना बहुत प्रचलित हुआ, लेकिन इसकी प्रसिद्धता का कारण कुछ और ही था।

SPONSORED

इस गाने का है इतिहास 

इस गाने का है इतिहास 
via

इस गाने को सुनकर इतने लोग आत्महत्या करने लगे की इस गाने का नाम "gloomy sunday" से बदलकर "Hungary suicide song" हो गया। हंगरी में जाने कितने लोग यह गाना सुनकर आत्महत्या कर चुके थे, और यह था इसके प्रसिद्ध होने का कारण।

कई आत्महत्या के किस्से हैं 

कई आत्महत्या के किस्से हैं 
via

इस गाने से जुड़ी कई कहानियाँ हैं। हंगरी में एक लड़की ने गाना सुनते-सुनते छत से कूद के जान दे दी। दूसरे हादसे में एक महिला ने गाना सुनते-सुनते ज़हर खा कर आत्महत्या कर ली। इस गाने से जाने कितने ही आत्महत्या के किस्से जुड़े हुए हैं।

सेरेस ने खुद भी आत्महत्या की थी 

सेरेस ने खुद भी आत्महत्या की थी 
via

ब्रिटेन और हंगरी में इस गाने को सुनकर इतनी आत्महत्या हो रही थी कि सरकार को इसे बैन करना पड़ा। इनकी दर्द भरी आवाज़ को सुनकर कई लोगों ने आत्महत्या की है। यहाँ तक की इसे लिखने वाले रेज़सो सेरेस ने खुद भी आत्महत्या ही की थी। वर्ष 1968 में रेज़सो सेरेस ने एक बिल्डिंग से कूदकर आत्महत्या कर ली। एक गाना सुनकर आत्महत्या! क्या आपको यह बात भयभीत नहीं करती? मैं तो अभी तक आश्चर्यचकित हूँ!

SPONSORED