₹2000 के नोटों में G.P.S. चिप लगे होने की ख़बर है झूठी, पढ़िए पूरा सच  

2000 के नोटों में नहीं होगा कोई GPS सिस्टम, जानिए कहाँ से फैली झूठी अफवाह। 

₹2000 के नोटों में G.P.S. चिप लगे होने की ख़बर है झूठी, पढ़िए पूरा सच  
SPONSORED

रिज़र्व बैंक ऑफ़ इण्डिया ने 500 और 1000 के पुराने नोट बंद कर दिये हैं। रिज़र्व बैंक ऑफ़ इण्डिया ने पुराने नोटों की जगह 2000 और 500 के नए नोटों से रूबरू कराया है, जो जल्द ही बैंकों में उपलब्ध होने के आसार हैं। नए नोटों की खबर को मार्केट में आए अभी 1 दिन भी नहीं हुआ और सोशल मीडिया पर तरह-तरह की अफवाहें आना शुरू हो गई।
लोगों का मानना है कि इसमें एक चिप लगी होगी जिससे नोटों के बंडल की लोकेशन आयकर विभाग को पहुँच जाएगी। लेकिन यह सच नहीं है, रिज़र्व बैंक ऑफ़ इण्डिया ने नोटों से जुड़ीं बहुत सी बातें साफ़ कर दी हैं। 

RBI के अनुसार नहीं है कोई भी चिप

RBI के अनुसार नहीं है कोई भी चिप

RBI के अनुसार नोटों में नहीं होगी कोई भी NGC चिप। 

RELATED STORIES

RBI ने ट्विटर पर अधिकारिक तौर पर नए नोटों की जानकारी दी

RBI ने ट्विटर पर अधिकारिक तौर पर नए नोटों की जानकारी दी
via

RBI ने नए नोटों की जानकारियों को 17 पॉइंट्स में विस्तार से समझाया, जिसमे कहीं भी NGC नहीं थाI NGC (Nano G.P.S Chip) सीधे सेटेलाइट से जुड़ी होती है, जिसकी मदद से नोटों की लोकेशन का सीधे-सीधे पता लगाया जा सकता थाI

स्वामी ब्रह्मचित्त ने किया था NGC का जिक्र 

स्वामी ब्रह्मचित्त ने किया था NGC का जिक्र 
via

स्वामी ब्रह्मचित्त ने ट्विटर पर NGC टेक्नोलॉजी से बने नोटों का जिक्र किया था। 

वायरल हुई खबर  

वायरल हुई खबर  
via

जिसके बाद से कुछ ही मिनटों में आग की तरह फैलने लगी यह खबरI

चिप लगे होने की स्थिति में होते कई फायदे 

चिप लगे होने की स्थिति में होते कई फायदे 
via

अगर नोटों में NGC चिप लगी होती तो सरकार और आयकर विभाग को बहुत से फायदे हो सकते थे। GPS की मदद से नोटों की स्थाई लोकेशन का पता लगाया जा सकता थाI नोटों से NGC चिप निकालना भी आसान नहीं होताI

GPS की मदद से मिलती और भी अन्य जानकारियां 

GPS की मदद से मिलती और भी अन्य जानकारियां 
via

जैसे की नोटों की संख्या का पता चल सकता था और नोटों के सीरियल नंबर की भी जानकारी आयकर विभाग के पास रहती जिससे काले धन से सीधे-सीधे निजात पाई जा सकती थीI

नकली नोटों का भी चलन होता बंद 

नकली नोटों का भी चलन होता बंद 
via

NGC की तकनीक का इस्तेमाल करना इतना आसान नहीं होता है, जिससे काफी हद तक नकली नोटों के चलन से निजात पाई जा सकती थीI

सौजन्य - दैनिक भास्कर 

क्या नए नोटों में NGC चिप होनी चाहिए?