SPONSORED

क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक गाँव ऐसा भी है, जहाँ हर कोई है बौना?

बौने के इस गाँव के बारे में जानकर आप हैरान रह जाएगें।

क्या आप जानते हैं कि दुनिया में एक गाँव ऐसा भी है, जहाँ हर कोई है बौना?
SPONSORED

- 2 1 3 10 Dwarf Village

जानिए कहाँ है यह गाँव

जानिए कहाँ है यह गाँव

बौनों का यह गाँव चीन के शिचुआन प्रांत के दूर-दराज़ पहाड़ी इलाके में स्थित है। गाँव का नाम यांग्सी है और यह गाँव 'ड्वार्फ विलेज ऑफ़ चाइना' के नाम से फेमस है।

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

जानिए किस उम्र के बाद बच्चों की लम्बाई रुक गई

जानिए किस उम्र के बाद बच्चों की लम्बाई रुक गई
via

ज़्यादातर मामलों में बच्चो की लम्बाई 5 से 7 वर्ष के बाद रुक गई।उनका कद अपनी उम्र के साथ नहीं बड़ा, वहीं  कुछ मामलों में बच्चों की लम्बाई सिर्फ 10 वर्ष तक ही बड़ पाई है। इसके बाद उनकी लम्बाई नहीं बड़ी और वो बौनें ही रह गये। 

1951 में आया पहला केस सामने

1951 में आया पहला केस सामने
via

गाँव के बुजुर्गो की मानें तो उनकी खुशहाल और सुक़ून भरी ज़िन्दगी कई दशकों पूर्व ही ख़त्म हो चुकी है। जब इस इलाके को एक खतरनाक बीमारी ने अपनी चपेट में ले लिया था। इसके बाद से इस इलाके के लोग कई अजीबो-गरीब हालात गुज़ार रहे हैं।

सिर्फ लम्बाई ही समस्या नहीं है

सिर्फ लम्बाई ही समस्या नहीं है
via

यहाँ पर 5 से 7 वर्ष के बाद लम्बाई रुक जाना ही सिर्फ एक समस्या नहीं है। इसके अलावा भी कई स्वास्थ संबंधी समस्याओं से लोग जूंझ रहे हैं।

खबरें तो 1911 से आ रही थी

खबरें तो 1911 से आ रही थी
via

इस इलाके में बौनों को देखे जाने की खबरें तो 1911 से आ रही हैं। इसके अलावा 1947 में एक अंग्रेज वैज्ञानिक द्वारा भी यहाँ सैकड़ो बौने देखे जाने की अफवाहे आई थी। लेकिन अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि 1951 में हुई थी।

60 सालों से है रहस्य बरक़रार

60 सालों से है रहस्य बरक़रार
via

एकदम से अचानक क्या हुआ कि एक सामान्य कद काठी वाला गाँव, बौनों के गाँव में तब्दील हो गया? यह रहस्य वैज्ञानिक पिछले 60 सालों में भी नहीं सुलझा पाए हैं। वैज्ञानिक इस गाँव की मिटटी, पानी, हवा, वातावरण, अनाज आदि का कई मर्तबा अध्ययन कर चुके हैं। लेकिन फिर भी इस समस्या का कारण खोजने में नाकाम रहे हैं।

1997 में वजह बताई गई थी

1997 में वजह बताई गई थी
via

वर्ष 1997 में एक रिसर्च में इस बीमारी की वजह बताते हुए इस गाँव की मिटटी में पारा होने की बात कही गई थी।  इस बात को साबित नहीं किया जा सका और ये रहस्य आज तक बरकरार है।  

कुछ लोग जापान को इसका ज़िम्मेदार ठहराते हैं 

कुछ लोग जापान को इसका ज़िम्मेदार ठहराते हैं 
via

वहीं कुछ लोगों का मानना है कि इसका कारण वह जहरीली गैसे है जो जापान ने कई दशकों पहले चीन में छोड़ी थी। हालाँकि एक तथ्य यह भी है कि जापान चीन के इस इलाके में कभी पहुँच ही नहीं पाया था। ऐसे ही समय-समय पर कई दाँवे किये गए लेकिन सही जवाब नहीं मिला।  

कुछ लोग भूत-प्रेत होने की वजह बताते हैं  

कुछ लोग भूत-प्रेत होने की वजह बताते हैं  
via

गाँव के कुछ लोग इस सब के पीछे किसी बुरी ताकत का प्रभाव मानते हैं। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि ख़राब फेंगशुई के चलते ऐसा हो रहा है। इसके अलावा कुछ लोग यह भी मानते हैं कि सब अपने पूर्वजों को सही तरीके से दफ़न नहीं करने की वजह से भी यह सब भुगत रहे हैं।  

SPONSORED

क्या आप भी भूत प्रेत और बुरी शक्तियों में विश्वास करते हैं?