सितारे जिन्होनें तय किया फर्श से अर्श तक का सफर, कई बार हुए रिजेक्ट पर नहीं मानी हार

इनका सफर भी नहीं था आसान। 

सितारे जिन्होनें तय किया फर्श से अर्श तक का सफर, कई बार हुए रिजेक्ट पर नहीं मानी हार
SPONSORED

अगर आप सोचते हैं कि परदे पर चमकते सितारों की ज़िंदगी हमेशा से ही ऐसी रही है तो आप गलत सोच रहे हैं। सब उनकी सक्सेस के बारे में बात करते हैं पर बहुत ही कम लोग जानते हैं कि इन स्टार्स को भी अपनी करियर के शुरूआती दौर में कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।

अमिताभ बच्चन से लेकर ज़ीनत अमान तक, शाहरुख़ खान से लेकर कंगना रनौत तक, सभी को अपने करियर के शुरूआती दौर में कई बार रिजेक्शन का सामना करना पड़ा। आइये जानते हैं इनकी संघर्ष की कहानी।

महानायक को भी करना पड़ा संघर्ष

महानायक को भी करना पड़ा संघर्ष

सुपरस्टार अमिताभ बच्चन को भी अपने करियर के शुरूआती दौर में कई सालों तक लगातार मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। जब वे इलाहाबाद के ऑल इंडिया रेडियो में ऑडिशन देने गये थे तो भारी आवाज़ होने की वज़ह से उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था। इसी तरह जब वे फिल्मों में काम करने की चाह लेकर मुम्बई आये। तो कई निर्देशकों ने उनकी अधिक लंबाई और ज़्यादा दुबले होने की वज़ह से उन्हें फिल्मों में काम देने से इनकार कर दिया।

RELATED STORIES

कभी थे बस कंडक्टर, आज है सुपरस्टार 

कभी थे बस कंडक्टर, आज है सुपरस्टार 
via

साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में रजनीकांत को भगवान की तरह पूजा जाता है। पर कभी वह दिन भी थे जब रजनीकांत सुपरस्टार नहीं बल्कि मद्रास में बस कंडक्टर का काम करते थे। करियर के शुरूआती दिनों में रजनीकांत ने साउथ के कई जाने-माने निर्माता-निर्देशक का दरवाज़ा खटखटाया। पर सभी ने उनके साँवले रंग और दक्षता की कमी की वजह से उन्हें रिजेक्ट कर दिया, और अपनी फिल्मो में काम देने से मना कर दिया।

विश्वसुंदरी को भी झेलना पड़ी आलोचना 

विश्वसुंदरी को भी झेलना पड़ी आलोचना 
via

सन 1994 में मिस वर्ल्ड चुनी गई ऐश्वर्या राय बच्चन को भी आलोचना का सामना करना पड़ा। उनकी यह आलोचना उनके रूप रंग नहीं बल्कि उनकी आवाज़ को लेकर हुई। उन्हें एक टीवी सीरियल में वॉइस डबिंग के लिए बुलाया गया और ऑडिशन के बाद उन्हें 'आवाज़ अच्छी नही है' कह कर रिजेक्ट कर दिया गया था। इसके अलावा उन्हें मॉडलिंग शो में शोस्टॉपर के ऑडिशन में रिजेक्शन सहना पड़ा था।   

बॉलीवुड के बादशाह भी हुए थे रिजेक्ट

बॉलीवुड के बादशाह भी हुए थे रिजेक्ट
via

आज शाहरुख़ भले बॉलीवुड के बादशाह हों, पर आज से 24 साल पहले ऐसा नही था। फिल्मों में एक्टर बनने का सपना लिए जब शाहरुख़ दिल्ली से मुम्बई आये तो उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में काम नहीं मिल पा रहा था। निर्देशक उन्हें यह कह कर काम देने से मना कर देते थे की उन्हें एक्टिंग की इतनी समझ नहीं है। शाहरुख़ को कई बार अपनी कद काठी और रूप को लेकर रिजेक्शन का सामना करना पड़ा है। 

भाषा को लेकर हुईं आलोचना की शिकार

भाषा को लेकर हुईं आलोचना की शिकार
via

सब जानते ही हैं कि कंगना का फिल्म इंडस्ट्री में कोई गॉडफ़ादर नहीं है। करियर के शुरुआती दौर में जब कंगना को कोई निर्देशक फिल्म के लिए साइन नहीं कर रहा था। तब उन्होनें इमरान हाशमी के अपोजिट 'गैंगस्टर' फिल्म साइन की। इसके बाद कंगना ने फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बना ली पर साथ ही साथ उन्हें अपनी हिंदी और अंग्रेजी भाषा के गलत उच्चारण और फैशन सेंस ना होने की वजह से आलोचना झेलनी पड़ी।

निर्देशक ने कहा 'अभी तुम छोटे हो'

निर्देशक ने कहा 'अभी तुम छोटे हो'
via

जी हाँ!!! बॉलीवुड में 'चीची' के नाम से मशहूर एक्टर गोविंदा को सिर्फ इसलिए फिल्म इंडस्ट्री में काम नही मिला क्योंकि तब उनकी उम्र काफी कम थी। एक फिल्म के ऑडिशन के दौरान जब वे ऑडिशन देने पहुँचे तो निर्देशक ने 'अभी तुम छोटे हो और इस रोल के लिए तुम्हें उतना तज़ुर्बा नहीं है' यह कहकर गोविंदा को रिजेक्ट कर दिया।

धक-धक गर्ल को नहीं आती एक्टिंग

धक-धक गर्ल को नहीं आती एक्टिंग
via

जी हाँ!! बॉलीवुड की धक-धक गर्ल माधुरी दिक्षित को अपनी करियर के शुरुआती दिनों में कई नकारात्मक बातों का सामना करना पड़ा था। उनकी साथी कलाकार 'मीनाक्षी शेषाद्रि' ने तो यहाँ तक कहा की "माधुरी को एक्टिंग करना नहीं आती तो वे बॉलीवुड इंडस्ट्री में ज्यादा दिन नहीं टिक पाएंगी।" इस वजह से कई निर्माता-निर्देशक उन्हें अपनी फिल्म में लेने से कतराने लगे थे।

जाने-माने निर्देशक गुरु दत्त भी नहीं बच पाए थे 

जाने-माने निर्देशक गुरु दत्त भी नहीं बच पाए थे 
via

अपने जमाने के मशहूर निर्देशक गुरु दत्त अपने शानदार निर्देशन के लिए तो मशहूर थे ही, साथ ही साथ वे अच्छे गायक और एक अच्छे एक्टर भी थे। लेकिन समय ने जब करवट ली तो सभी ने गुरु दत्त से किनारा कर लिया। जब वे 'प्यासा' नामक एक फिल्म बनाना चाहते थे, तब हर एक्टर ने उनके साथ काम करने से इनकार कर दिया था। इसके बाद गुरु दत्त साहब नें खुद को हीरो के लिए कास्ट कर उस फिल्म को बनाया।  

धर्मेंद्र को निर्देशक की 'ना' 

धर्मेंद्र को निर्देशक की 'ना' 

बॉलीवुड के "हीमैन" धर्मेंद्र को भी कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। 60 एवं 70 के दशक में धर्मेंद्र बॉलीवुड इंडस्ट्री में अपना मुकाम बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे, उनके पास खाने तक लिए पैसे नहीं होते थे। एक फिल्म निर्देशक ने तो उन्हें वापस घर जाने के लिए टैक्सी का किराया तक देने से इनकार कर दिया था।

हार कर लौट जाना चाहती थी वापस 

हार कर लौट जाना चाहती थी वापस 
via

जीनत अमान का नाम सुन कर ही हमें उनके द्वारा निभाए गए बोल्ड किरदारों की याद आ जाती है। पर एक समय यह भी था जब फिल्म इंडस्ट्री में उन्हें काम नही मिल रहा था। कोई भी निर्माता-निर्देशक जीनत के साथ फिल्म करने में कुछ ख़ास दिलचस्पी नहीं दिखा रहे थे। जीनत निर्माता-निर्देशकों के चक्कर काट-काट कर थक चुकी थी, तब उन्होनें वापस जर्मनी जाने का फ़ैसला ले लिया था।

क्या आने वाली पीढ़ी से हमें संघर्ष की ऐसी कहानियां सुनने को मिलेंगी?