बीजेपी नेता ने खोली पोल, अदानी-अम्बानी को पहले ही पता था नोट बंदी के बारे में 

क्या देश की जनता के साथ धोखा हुआ है। 

बीजेपी नेता ने खोली पोल, अदानी-अम्बानी को पहले ही पता था नोट बंदी के बारे में 
SPONSORED

धोखा! यह एक ऐसी ठोकर है जिसे हम सालों से खाते आ रहे हैं। कोई भी भारतीय दिन में एक बार खाना खाए या ना खाए मगर धोखा ज़रुर खा लेता है। यह भी बड़ी हैरानी वाली बात है कि हमें धोखा भी वही देता है जिस पर हमें सबसे ज़्यादा यकीन होता है।
क्या आज वही धोखा हमे हमारी चुनी हुई सरकार दे रही है? वह सरकार जिस पर भरोसा कर के हमने उसे अपनी तक़दीर का फैसला करने की ताकत दे दी। वह सरकार जिसके आने से लगा वह देश की दशा और दिशा दोनों बदल देगी। क्या उस सरकार ने भी देश की जनता के साथ छल किया है? यह सवाल इस लिए तुल पकड़ रहा हैं क्योंकि इस आग को हवा भारतीय जनता पार्टी के विधायक ने ही दी है।
आइये जानते हैं कौन है यह और क्या कहा इन्होनें।  

यह हैं भवानी सिंह राजावत 

यह हैं भवानी सिंह राजावत 

यह है कोटा राजस्थान से भारतीय जनता पार्टी के विधायक माननीय भवानी सिंह राजावत। यही वे शख़्स है जिन्होंने अपनी पार्टी की पोल खोल कर रख दी है। दरअसल इन दिनों सोशल मीडिया पर, राजावत सहाब का एक वीडियो काफी वाइरल हो रहा है।  

RELATED STORIES

अपनी ही पार्टी के फैसले की कर रहे हैं कड़ी आलोचना 

अपनी ही पार्टी के फैसले की कर रहे हैं कड़ी आलोचना 
via

इस वीडियो में माननीय विधायक जी अपनी ही पार्टी के फैसले की कड़ी आलोचना कर रहे हैं। अगर विधायक जी की माने तो प्रधानमंत्री जी का यह फैसला बिलकुल गलत है। जहाँ एक तरफ नोटबंदी के मामले में विपक्ष सरकार को चारों तरफ से घेर चुकी है, वहीं सरकार के दल के लोग भी सरकार के इस फैसले से खुश नज़र नहीं आ रही है ।   

जैसे पेट्रोल के भाव बड़ाते हैं वैसे नोट बदल दिए 

जैसे पेट्रोल के भाव बड़ाते हैं वैसे नोट बदल दिए 
via

विधायक जी का कहना है नोटबंदी का फैसला काफी जल्दबाज़ी में लिया गया। लोगों को तैयारी करने का मौका ही नहीं दिया गया। जिस तरह आधी रात को पेट्रोल के दाम बड़ते-घटते हैं, उसी तरह नोट बंद कर दिए गए। माननीय विधायक जी का तर्क तो उचित है मगर क्या यह तर्क उन्होंने अपनी पार्टी के बड़े नेताओं के समक्ष रखा होगा, यह सोचने वाला विषय है।       

अदानी और अम्बानी को पहले ही पता था 

अदानी और अम्बानी को पहले ही पता था 

भवानी सिंह राजावत की ज़बान सिर्फ यहीं नहीं रुकी, उन्होंने अपनी पार्टी की नैतिकता पर ही सवाल उठा दिए। उन्होंने कहा अदानी और अम्बानी को सरकार ने पहले ही हिंट दे दी थी। तभी तो वे उसके लिए पहले से ही तैयार थे। मगर सवाल यह उठता है कि जब अदानी और अम्बानी को यह बात पहले ही पता थी तो देश की जनता से यह बात क्यों छुपाई गई। क्या अदानी और अम्बानी देश के कानून और संविधान से कहीं ज़्यादा ऊँचे हैं।   

क्या प्रधानमंत्री जी इसका जवाब देंगे 

क्या प्रधानमंत्री जी इसका जवाब देंगे 
via

अब अहम सवाल यह है, जो इस वक्त पूरा देश सोच रहा है। जिस सरकार के लिए देश का आम इंसान लंबी कतारों में खड़ा है, फिर भी मुस्कुरा रहा है। उसे लगता है कि जिसे उसने इस बार अपना प्रतिनिधि चुना है वह देश में परिवर्तन लाएगा। मगर वही सरकार उन गरीबों की मुस्कुराहट के साथ राजनीति खेले तो दर्द तो होगा। एक बार फिर देश की जनता प्रधानमंत्री जी के जवाब का इंतज़ार कर रही है।   

देखिये पूरा वीडियो 

क्या वाक़ई अदानी और अम्बानी को पहले से नोटबंदी के बारे में पता था?