SPONSORED

गर्भ निरोध के ये प्राचीन तरीके जानकर उड़ जायेंगे आपके होश

इनमें से कुछ की आपने कल्पना भी नहीं की होगी।

SPONSORED

- , , , - ,

शुरूआती समय में ग्रीनलैंड निवासी मानते थे कि महिलाएं चाँद की वजह से गर्भवती हो जाती हैं। 

शुरूआती समय में ग्रीनलैंड निवासी मानते थे कि महिलाएं चाँद की वजह से गर्भवती हो जाती हैं। 

इसलिये महिलाएं चाँद की तरफ़ पीठ करके सोती थीं और अपनी नाभि पर थूक लगा लेती थीं।

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

चीन में महिलाओं को गर्भ निरोध के लिए खाली पेट, तेल और पारा (मरक्युरी) का घोल पिलाया जाता था। 

चीन में महिलाओं को गर्भ निरोध के लिए खाली पेट, तेल और पारा (मरक्युरी) का घोल
पिलाया जाता था। 
via

पारा शरीर के लिए ज़हर होता है और इसके सेवन से बाँझपन होने का ख़तरा होता है।

ज़ैतून और देवदार का तेल।

ज़ैतून और देवदार का तेल।
via

प्राचीन ग्रीस में महिलाएं सम्भोग (sex) के बाद ज़ैतून का तेल और देवदार के तेल को मिलाकर नहाती थीं। उनका मानना था की ऐसा करने से पुरुष के स्पर्म (शुक्राणु) धुल जाते थे।

हनी कैप का प्रयोग

हनी कैप का प्रयोग
via

ये तरीका आज भी प्रचलित है। इसमें महिलाएं संभोग (sex) से पहले शहद को अपने गर्भाशय पर लगाती हैं, यह स्पर्म के लिए अवरोध बन जाता है और प्रेगनेंसी नहीं होती।

जानवरों की अंतड़ियों के कॉन्डोम

जानवरों की अंतड़ियों के कॉन्डोम
via

पढ़ने में यह कितना भद्दा लगता है लेकिन यह सच है। प्राचीन ग्रीक और रोमन के लोग जानवरों की अंतड़ियों से बने कॉन्डोम का इस्तेमाल किया करते थे। कॉन्डोम गर्भ निरोध तो करता ही था, साथ ही यौन संक्रमण से भी बचाता था।

जंगली गाजर का प्रयोग

जंगली गाजर का प्रयोग
via

प्राचीन लोग गर्भ निरोध के लिए जंगली गाजर का भी प्रयोग किया करते थे। लेकिन यह तरीका पूरी तरह से उपयोगी नही था, इसलिए इसका इस्तेमाल बाद में बंद कर दिया गया।

टैम्पॉन का प्रयोग

टैम्पॉन का प्रयोग
via

आधुनिक समय में महिलाएं टैम्पॉन का प्रयोग माहवारी में करती हैं। प्राचीन इजिप्ट में टैम्पॉन का प्रयोग गर्भ निरोधक के रूप में किया जाता था। इसे फलों के रस जैसे नींबू आदि में डुबो कर इस्तेमाल किया जाता था।

लाइज़ॉल का प्रयोग

लाइज़ॉल का प्रयोग
via

लाइज़ॉल कीटाणु नाशक दवा कंपनी ने अपने एक विज्ञापन में गर्भ निरोध के लिए इसका इस्तेमाल करने की हिदायत दे डाली थी। इसके प्रयोग से महिलाओं में लाइज़ॉल पॉइजनिंग की शिकायत होने लगी।

SPONSORED

क्या समाज में गर्भ निरोध के प्रति पर्याप्त जागरूकता है?