एटीएम से पैसा न मिलने से दुखी युवती गुस्से में हुई टॉपलेस 

नाराज़गी जताने का अनोखा तरीका। 

एटीएम से पैसा न मिलने से दुखी युवती गुस्से में हुई टॉपलेस 
SPONSORED

नोटबंदी से देश में काला धन निकलेगा या नहीं निकलेगा यह तो कोई नहीं जनता। हाँ लेकिन इस नोट बंदी से लोगों का गुस्सा जरुर बाहर निकल रहा है। लोग कई तरह से अपना विरोध जता रहे हैं। कोई सरकार के खिलाफ नारे लगा रहा है तो कोई सरकार को जम कर कोस रहा है।

मगर इन सब के बीच दिल्ली में एक युवती ने अपना विरोध अलग ही अंदाज़ में दर्ज किया। अगर यह सात समुन्दर पार होता तो कोई ज्यादा ध्यान नहीं देता, मगर चूँकि यह अपने देश में हुआ इसलिए यह सुर्खियाँ बन गया।

पूरा देश लाइन में लगा हुआ है 

पूरा देश लाइन में लगा हुआ है 

सरकार के अहम फैसले की वजह से आज पूरा देश लाइन में खड़ा हो गया है। हर कोई परेशान है, हताश है। पता नहीं इस नोटबंदी से काले धन वालों को कोई नुकसान हो रहा है या नहीं। हाँ, लेकिन आम इंसान तो इस समस्या से बुरी तरह परेशान हो चुका है।

RELATED STORIES

लोगों के सन्डे भी बीत रहे हैं बैंक लाइन में 

लोगों के सन्डे भी बीत रहे हैं बैंक लाइन में 
via

इस नोटबंदी ने लोगों का जीना हराम कर के रख दिया है। हर दिन लोगों का आधा से ज्यादा समय बैंको या एटीएम की लाइन में बीत रहा है। और जो लोग दफ्तर या काम की वजह से बैंक की लाइन में नहीं लग पाए वे संडे के दिन अपनी छुट्टी बर्बाद कर रहे हैं।

परेशान लड़की ने फिर किया कुछ ऐसा 

परेशान लड़की ने फिर किया कुछ ऐसा 
via

दिल्ली मयूर विहार फेज़ में एटीएम की लंबी लाइन लगी हुई थी। एक लड़की काफी समय से उस लाइन में खड़ी हुई थी मगर उसकी बारी नहीं आ रही थी। हताश लड़की ने फिर ऐसा कदम उठाया जिससे सभी सकते में आ गए।

लड़की हुई टॉपलेस 

लड़की हुई टॉपलेस 
via

लड़की ने अपना विरोध जताने के लिए अपना टॉप निकाल दिया। अचानक हुई इस हरकत से पास खड़े लोग चौंक गए। दरअसल यह सब इतनी जल्दी हुआ कि कोई कुछ समझ ही नहीं पाया।

पुलिस ने संभाला मोर्चा 

पुलिस ने संभाला मोर्चा 
via

जब तक मामला तूल पकड़ता तब तक पुलिस ने तुरंत आ कर मोर्चा संभाल लिया। पुलिस तुरंत उसे कपड़े पहनाकर थाने ले गई। थाने में पुलिस ने युवती को समझाइश दी और पास वाले एटीएम से ला कर पैसे दिए।

एटीएम को ठीक से चलने के लिए 21 दिन का समय लगेगा 

एटीएम को ठीक से चलने के लिए 21 दिन का समय लगेगा 
via

अभी हाल ही में सरकार का एक बयान आया है जिसमें उन्होंने जनता को आश्वासित करते हुए कहा अभी एटीएम को ठीक से काम करने के लिए 21 दिन का समय और लगेगा। इन 21 दिनों में लोगों का गुस्सा और कितना फूटता है यह काफी देखने लायक होगा।

आज आदमी वही कर रहा है जो वह सालों से करता आ रहा है 

आज आदमी वही कर रहा है जो वह सालों से करता आ रहा है 
via

आज फिर आम आदमी को सरकार ने वहीं करने पर मजबूर कर दिया है जो वह हमेशा करता है। "कॉम्प्रोमाइज़", यह वह शब्द है जो आज हर आम आदमी ने रट लिया है। 100 रूपए से किसी का एक दिन नहीं गुज़रता, मगर यहाँ लोग 100 रूपए से हफ्तें गुज़ार रहे हैं।

क्या विरोध प्रदर्शन के ऐसे तरीके को सही कहा जा सकता है?