SPONSORED

फ़िल्म 'पद्मावती' के क्लाइमेक्स का खुला राज़, 'रामलीला' और 'बाजीराव-मस्तानी' से है कनेक्शन

कहानी में भी हो सकती है समानता। 

फ़िल्म 'पद्मावती' के क्लाइमेक्स का खुला राज़, 'रामलीला' और 'बाजीराव-मस्तानी' से है कनेक्शन
SPONSORED

निर्देशक संजय लीला भंसाली की ऐतिहासिक फ़िल्म 'पद्मावती' की शूटिंग शुरू हो गयी है। यह फ़िल्म एक ऐतिहासिक घटना पर आधारित है। इतिहास में दिलचस्पी रखने वालों के लिए रानी पद्मावती की कहानी कुछ नई नहीं है। कवि 'जायसी' अपने ग्रंथ 'पद्मावत' में पद्मावती की कहानी बयान कर चुके हैं।

यह दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और संजय लीला भंसाली की एक साथ तीसरी फिल्म होगी। इसके पहले ये 'रामलीला' और  'बाजीराव-मस्तानी' जैसी हिट फ़िल्मो में साथ काम कर चुके हैं। 'रामलीला', 'बाजीराव-मस्तानी' और 'पद्मावती' की कहानी चाहे अलग-अलग हो लेकिन इनमें काफी दिलचस्प कनेक्शन हैं। 

SPONSORED

त्रिकोणीय प्रेमकथा वाली कहानी

त्रिकोणीय प्रेमकथा वाली कहानी

यह फ़िल्म त्रिकोणीय प्रेमकथा पर आधारित एक कहानी बयां करेगी। बक़ौल संजय, "मुझे लगता है मैं त्रिकोणीय प्रेमकथा वाली कहानियों पर ही फ़िल्म बनाता रहूँगा। हालाँकि में नही जानता कि ऐसी कहानियों की तरफ मैं क्यों आकर्षित होता हूँ, लेकिन इसके बावजूद मैं ऐसी कहानियों पर फिल्मे बनाता हूँ जिनका अंत सुखद नही होता।"

RELATED STORIES

शाहिद भी हैं इस बार साथ 

शाहिद भी हैं इस बार साथ 
via

फ़िल्म 'पद्मावती' में जहाँ दीपिका रानी पद्मावती के रोल में होगी। वहीं रणवीर सिंह दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी का रोल निभाते दिखेगें, जो पद्मावती के प्रेम में पागल सा हो जाता है और किसी भी क़ीमत पर पद्मावती को पाना चाहता है। शाहिद कपूर चित्तौड़ के राजा 'रतन सिंह' का रोल पर्दे पर उतारते नजर आएँगे।

पद्मावती बनी दीपिका 

पद्मावती बनी दीपिका 

ऐतिहासिक कवि 'मलिक मुहब्बत जायसी' अपने ग्रँथ 'पद्मावत' में पद्मावती के जीवन के बारे में बता चुके हैं। रानी पद्मावती चित्तौड़ की रानी व सिंहल द्वीप के राजा गंधर्व सेन और रानी चम्पावती की बेटी थी। पद्मावती की शादी चित्तौड़ के राजा रतन सिंह के साथ हुई है।

ख़ूबसूरती की मिसाल थी 'पद्मावती' 

ख़ूबसूरती की मिसाल थी 'पद्मावती' 
via

'जायसी' के ग्रँथ 'पद्मावत' और अन्य इतिहासकारों के अनुसार, चित्तौड़ की रानी पद्मावती बेहद खूबसूरत थी। उस समय में उनकी खूबसूरती के चर्चे चारो दिशाओं में थे। इतिहास में उल्लेख भी मिलता है कि रानी पद्मावती को उस समय की सबसे 'सुन्दर रानी' के ख़िताब से भी सम्म्मानित किया गया था। 

SPONSORED

अलाउद्दीन खिलजी करना चाहता था हासिल 

अलाउद्दीन खिलजी करना चाहता था हासिल 

उस समय में रानी पद्मावती की खूबसूरती के चर्चे जोरों पर थे। दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी की नज़र रानी पद्मावती पर पड़ गई। और अलाउद्दीन खिलजी, रानी पद्मावती का दीवाना हो गया। वो किसी भी कीमत पर पद्मावती को हासिल करना चाहता था, इसलिए उसने चित्तौड़ किले पर हमला कर दिया।

जौहर करेंगी दीपिका 

जौहर करेंगी दीपिका 
via

जैसा कि इतिहास में हुआ है, अलाउद्दीन ख़िलजी ने रानी पद्मावती को हासिल करने के लिए जब चित्तौड़ के किले पर हमला किया। तब रानी पद्मावती ने आग में कूदकर अपनी जान दे दी। लेकिन ख़िलजी को अपनी इज़्ज़त पर हाथ नही डालने दिया। फ़िल्म में दीपिका भी जौहर की आग में जलती दिखेंगी।  

तीनो फ़िल्मो में क्या है कनेक्शन 

तीनो फ़िल्मो में क्या है कनेक्शन 
via

यदि निर्देशक संजय लीला भंसाली 'पद्मावती' की कहानी से छेड़खानी नही करते है। तो दीपिका इसमें आग में कूद कर अपनी अपने प्राण त्याग देंगी। 'रामलीला' में भी दीपिका क्लाइमेक्स में मर जाती है। उसी तरह 'बाजीराव-मस्तानी' के क्लाइमेक्स में दीपिका का क़त्ल कर दिया गया था। अब आप समझ ही गए होंगे कि इन तीनो फिल्मो में क्या कनेक्शन है। 

SPONSORED

क्या आपको लगता है कि निर्देशक भंसाली इस फिल्म में कवी 'जायसी' की 'पद्मावत' के साथ पूर्ण न्याय कर पाएंगे?