SPONSORED

बैंक में गया था चोरी करने, पर ऐसा कुछ हुआ कि उसने फांसी ही लगा ली 

बैंक का अलार्म बजने से डर गया था चोर। 

बैंक में गया था चोरी करने, पर ऐसा कुछ हुआ कि उसने फांसी ही लगा ली 
SPONSORED

- -

मध्य प्रदेश के सतना की है घटना 

मध्य प्रदेश के सतना की है घटना 

यह घटना मध्य प्रदेश के सतना जिले के बघेलान थाना क्षेत्र में घटित हुई। यहाँ स्थित इलाहाबाद बैंक में 22 वर्षीय धर्मेंद्र पटेल चोरी के इरादे से शटर काटकर घुसा था। यह बैंक दो मंजिला इमारत के तल मंजिल पर स्थित है।  

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

तिजोरी पर बोला धावा 

तिजोरी पर बोला धावा 
via

बैंक में घुसने के बाद इस चोर ने आस-पास नज़र घुमाकर निश्चिंत कर लिया कि कोई आस-पास तो नहीं है। रास्ता साफ़ पाकर उस चोर ने सीधे तिजोरी की ओर अपने कदम बढ़ाये। तिजोरी के पास पहुँचकर वो तिजोरी को खोलने लगा और तभी बैंक का इमरजेंसी अलार्म बज उठा।  

पुलिस को दिखी फांसी पर लटकी लाश 

पुलिस को दिखी फांसी पर लटकी लाश 
via

अलार्म की तेज आवाज़ सुनकर बिल्डिंग के ऊपरी माले पर रहने वाले लोग जाग गए और उन्होंने शोर मचाना शुरू कर दिया। उनका शोर सुनकर आस-पास के लोग भी लाठी-डंडे लेकर वहां जमा हो गए।  लोगों ने पुलिस को फ़ोन कर बुलाया और जब पुलिस ने आकर बैंक की खिड़की से झांककर देखा तो उन्हें एक व्यक्ति फंदे पर लटका मिला।  

सीसीटीवी में कैद हुई घटना 

सीसीटीवी में कैद हुई घटना 
via

यह दृश्य देखकर सभी चकित रह गए। फिर जब सीसीटीवी फुटेज पर नज़र डाली तो पुलिस को पता चला कि धर्मेंद्र मुँह पर गमछा बांधकर बैंक में घुसा था। जब अलार्म बजा और शोर शुरू हो गया तो डर के मारे बैंक में ही उस गमछे से फंदा बनाकर फाँसी लगा ली।   

पुलिस कर रही है मामले की जांच 

पुलिस कर रही है मामले की जांच 
via

मृतक के शव का पोस्टमार्टम करने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने इस मामले की आगे की जाँच शुरू कर दी है और मामले के सम्बन्ध में ज़्यादा जानकारी देने से इंकार कर दिया है।  

पहले भी दर्ज हो चुका है चोरी का मामला 

पहले भी दर्ज हो चुका है चोरी का मामला 
via

पुलिस के अनुसार धर्मेंद्र हिस्ट्रीशीटर तो नहीं है लेकिन तीन साल पहले भी उस पर चोरी का केस दर्ज हो चुका है।  

अपने तरह का अनोखा मामला है ये 

अपने तरह का अनोखा मामला है ये 
via

ये वाकई अपने तरह का एक अनोखा मामला है। सोच कर देखिए कभी कुछ गलत करने पर खुद-ब-खुद ही सजा भी मिल जाए तो दुनिया कितनी सुधर जाए।  

SPONSORED

क्या आपको नहीं लगता के समय के साथ-साथ चोरी के अपराध और बढ़ते जा रहे हैं?