प्लास्टिक के चावल खा कर बीमार पड़ रहें हैं लोग, इन घरेलू तरीकों से जाँचें चावल  

प्लास्टिक के चावल से रहें सावधान, खाने से पहले करें जाँच। 

प्लास्टिक के चावल खा कर बीमार पड़ रहें हैं लोग, इन घरेलू तरीकों से जाँचें चावल  
SPONSORED

भारत में चावल की ज़्यादा खपत के चलते कुछ पैसों के भूखे व्यापारियों ने नकली चावल बनाने की तरक़ीब ढूंढ निकाली है। नकली चावल खाने में बिलकुल असली चावल जैसा ही लगता है। कुछ समय बाद नकली चावल खाने से शरीर में कई तरह की बीमारियां होने लगती हैं। 
चावल के उत्पादन के मामले में चीन पहले स्थान पर है। 200 मिलियन टन चावल हर साल चीन से बन कर बाहरी देशों में जाता है। Korea Times की खबर के अनुसार चावल को कृतिम ढंग से बना कर भी दुनिया के कई हिस्सो में भेजा जा रहा है। 

आईये देखते हैं कि नकली चावल कैसे बनाया जाता है और इसकी जाँच कैसे की जा सकती है। 

आलू के स्टार्च और प्लास्टिक से बनता है नकली चावल  

आलू के स्टार्च और प्लास्टिक से बनता है नकली चावल  

आलू के स्टार्च को प्लास्टिक के साथ मिक्स कर के मशीनों की सहायता से चावल के कणों में ढाला जाता है। यह काम ज़्यादातर चीन की बड़ी-बड़ी फैक्ट्रीयों में होता है। 

RELATED STORIES

बडी-बड़ी फैक्ट्री में  ऐसे बनाते हैं नकली चावल

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि नकली चावल कैसे बनाए जाते हैं। 

वाटर टेस्ट 

वाटर टेस्ट 

क्या आप जानते हैं की चावल कि शुद्धता का कैसे पता लगा सकते हैं? चावल की शुद्धता का पता लगाने के लिए मुख्य रूप से 4 टेस्ट किये जाते हैं। एक- वाटर टेस्ट, दो- फायर टेस्ट, तीन- पेस्टल टेस्ट, चार- मोल्ड टेस्ट। पहले जानते हैं कि वाटर टेस्ट के माध्यम से चावल की शुद्धता का कैसे पता करें। सबसे पहले थोड़े से कच्चे चावल और एक बर्तन में ठंडा पानी लें। 

चावल को पानी भरे बर्तन में डाल दें 

चावल को पानी भरे बर्तन में डाल दें 
via

कच्चे चावल को पानी भरे बाउल में डाल दें। यदि सभी चावल पानी में नीचे बैठ जाते हैं तो चिंता करने की कोई ज़रुरत नहीं हैं। यदि चावल पानी में तैरना शुरू कर दें तो चावलों में मिलावट हो सकती हैं।  

फायर टेस्ट 

फायर टेस्ट 
via

चावल के टुकड़े को लेकर आग के सामने रखें। जलने तक का इन्तेज़ार करें, आग के संपर्क में आने पर प्लास्टिक की एक अलग ही महक होती है। चावलों के जलने के बाद उसकी महक सूंघे यदि प्लास्टिक के जलने जैसी महक आ रही हो तो चावल नकली हो सकता हैं।  

पेस्टल टेस्ट 

पेस्टल टेस्ट 
via

पेस्टल टेस्ट यानि चावलों को कूट कर देखने से भी पता कर सकते हैं कि चावल असली है या नकली। पहले चावल को अच्छे से कूटें यदि चावल का पाउडर कूटने के बाद अपना रंग बदलता है तो चावल में कुछ मिलावट ज़रूर है। 

मोल्ड टेस्ट 

मोल्ड टेस्ट 
via

सबसे पहले चावलों को अच्छे से पका लें। 

बीकर में डाल कर करें इन्तेज़ार  

बीकर में डाल कर करें इन्तेज़ार  
via

पके हुए चावलों को बीकर में डाल कर बीकर बंद कर दें और किसी गर्म जगह पर रख दें। कुछ समय बाद चावल मोल्ड हो जाएंगे यदि ऐसा नहीं होता हैं तो चावल नकली हैं।  
शुध्द चावल खाएं और स्वथ्य रहें। यदि आपको किसी और खाद्य पदार्थ की जानकारी लेनी हो तो नीचे कमेंट करें। 

क्या आप और भी अन्य खाद्य पदार्थों की जाँच के बारे में जानना चाहेंगे?