SPONSORED

नोटबंदी: सरकार द्वारा जनता को एक और राहत, डेबिट कार्ड और ऑनलाइन पेमेंट अब मुफ्त

जी खोल कर करो अब अपने डेबिट कार्ड से शॉपिंग।

SPONSORED

" "

डेबिट कार्ड से भुगतान करने पर चुकाना पड़ता था 2 फीसदी की दर से कर 

डेबिट कार्ड से भुगतान करने पर चुकाना पड़ता था 2 फीसदी की दर से कर 

अभी तक बैंक द्वारा जारी किये गए डेबिट कार्ड की सहायता से भुगतान करने पर 2 फीसदी की दर से कर चुकाना पड़ता था। जो आपके लिए गए सामान की एमआरपी के साथ जोड़ कर दुकानदार आपसे ले लेता था। इस कर को सर्विस चार्ज के रूप में आपसे लिया जाता था।

RELATED STORIES

SPONSORED
SPONSORED

कैश भुगतान करने पर सर्विस चार्ज नहीं लगता है 

कैश भुगतान करने पर सर्विस चार्ज नहीं लगता है 
via

वहीं अगर आप अपने सामान का भुगतान कैश से करते हो तब आपको अतिरिक्त कर जिसे सर्विस चार्ज नाम दिया जाता है, वह नहीं देना पड़ता। 

ग्राहकों को दी गई छूट 

ग्राहकों को दी गई छूट 
via

अब डेबिट कार्ड से पेमेंट पर सरकार ने सर्विस चार्ज को पूरी तरह हटा लिया है। हालांकि डेबिट कार्ड पर सर्विस चार्ज से राहत सिर्फ 31 दिसंबर तक दी गई है।

ई-वॉलेट और मोबाइल पेमेंट भी हुए फ्री 

ई-वॉलेट और मोबाइल पेमेंट भी हुए फ्री 
via

यही नहीं, देश में मोबाइल इंटरनेट जैसे ई-वॉलेट तथा नेट द्वारा की गई पेमेंट पर भी सर्विस चार्ज हटा दिया गया है। वैसे नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने 'रूपे' पर लगने वाले ट्रांजैक्शन चार्ज को 31 दिसंबर तक हटाने की घोषणा पहले ही कर दी थी। इस चार्ज के तहत 'रूपे' अथवा किसी अन्य कार्ड से ट्रांजैक्शन करने पर कार्ड जारी करने वाला बैंक प्रति ट्रांजैक्शन 60 पैसे चार्ज करता था। वहीं दूसरी ओर 'रूपे' के जरिए पैसे प्राप्त करने वाला बैंक प्रति ट्रांजैक्शन 30 पैसे चार्ज करता था।

रेलवे टिकट की ऑनलाइन बुकिंग पर भी कोई सर्विस चार्ज नहीं

रेलवे टिकट की ऑनलाइन बुकिंग पर भी कोई सर्विस चार्ज नहीं
via

आम जनता को और अधिक राहत देते हुए सरकार ने रेलवे टिकट की ऑनलाइन बुकिंग पर से भी सर्विस चार्ज हटा दिया है। अब यदि आप इंटरनेट के माध्यम से ट्रेन की टिकट बुक करते हैं तो आपको अतिरिक्त चार्ज नहीं देना होगा। इससे भी जनता को काफी राहत पहुंचेगी।

एसी के लिए लगते थे 40 रूपए और साधारण के लिए लगते थे 20 रूपए 

एसी के लिए लगते थे 40 रूपए और साधारण के लिए लगते थे 20 रूपए 
via

अब तक आपसे ऑनलाइन ट्रेन बुकिंग करने पर सरकार अतिरिक्त चार्ज लेती थी। जैसे आपको एयर कंडीशन में रिजर्वेशन करवाना हो तो 40 रुपये अतिरिक्त शुल्क देना पड़ता था। और यदि आपको साधारण कोच में रिजर्वेशन करवाना हो तो आपको अपनी जेब से 20 रूपए अतिरिक्त शुल्क देना पड़ता था। यह चार्ज टिकट काउंटर से टिकट लेने पर नहीं देना पड़ता था।    

जो डेबिट कार्ड के बारे में नहीं जानते उनके लिए क्या है?  

जो डेबिट कार्ड के बारे में नहीं जानते उनके लिए क्या है?  
via

शायद सरकार भूल गई है पर देश में मिडिल क्लास से भी नीचे एक तबका रहता है, जिसने डेबिट कार्ड को कभी देखा भी नहीं है। और अगर असल मायने में देखा जाए तो इस नोटबंदी की असली मार वही झेल रहे हैं। क्या उनके लिए सरकार के पास कोई योजना नहीं है। या सरकार उनको भूल चुकी है? 

SPONSORED

क्या सरकार के इस कदम से आम लोगों को कोई राहत मिलेगी?