डियर ज़िंदगी रिव्यु: अपनी ही ज़िंदगी का एक हिस्सा सा लगती है 'डियर ज़िंदगी'  

ज़िन्दगी के उतार-चढ़ाव को बयां करती है 'डियर ज़िंदगी'।

डियर ज़िंदगी रिव्यु: अपनी ही ज़िंदगी का एक हिस्सा सा लगती है 'डियर ज़िंदगी'  
SPONSORED

'don't let your past blackmail your present to ruin your future'

फिल्म में यह बात शाहरुख़ खान आलिया भट्ट से कहते हैं। यह एक संवाद ही इस पूरी फिल्म का सार है। 'डियर ज़िंदगी' आपको आपकी ही ज़िंदगी के सफर पर ले जाएगी। लेकिन यक़ीन मानिए आप जब इस सफर से लौटकर आएँगे तो तरोताज़ा महसूस करेंगे। यह फिल्म आपको एक नई सकारात्मक ऊर्जा से भर देगी। आइये इस फिल्म के बारे में बात करते हैं विस्तार से।

इनसे है फिल्म 

इनसे है फिल्म 

'रेड चिली एंटरटेनमेंट', 'धर्मा प्रोडक्शन' और 'होप प्रोडक्शन' के बैनर तले बनी फिल्म डियर जिंदगी को गौरी शिंदे ने निर्देशित किया है। इस फिल्म में शाहरुख़ खान और आलिया भट्ट मुख्य किरदारों में है। इनके साथ ही फिल्म में कुणाल कपूर, अंगद बेदी, ईरा दुबे और अली जफ़र भी नज़र आए।  

RELATED STORIES

क्या है 'डियर ज़िंदगी'  

क्या है 'डियर ज़िंदगी'  
via

फिल्म की शुरुआत में आपको ऊर्जा से भरपूर बहुत ही महत्वाकांक्षी सिनेमेटोग्राफर 'कायरा' यानि आलिया भट्ट नज़र आती है। कायरा एक आम लड़की की तरह ही है जो अपनी जिंदगी को लेकर बड़े-बड़े सपने देखती है और उन्हें पूरा करने का माद्दा भी रखती है। लेकिन एक आम युवती की तरह ही उसके जीवन में भी कई उलझनें और अधूरे से सवाल हैं। कायरा के इन सवालों के जवाब देने और उलझनों को सुलझाने उसके जीवन में साइकोलोजिस्ट जहाँगीर खान यानि शाहरुख़ खान आते हैं। यह कहानी जिंदगी के इन्हीं अधूरे से उलझे हुए सवालों के जवाब ढूंढती है।

किसने जीता दिल?

किसने जीता दिल?
via

अगर आप भावुक किस्म के इंसान हैं तो आलिया और शाहरुख़ कुछ सीन्स में तो आपको रुला ही देंगे। आलिया हमेशा से ही अपनी एक्टिंग स्किल्स से सबका दिल जीतती आई हैं। इस फिल्म में भी उन्होंने बेहतरीन काम किया है। वो कभी आपको तितली की तरह उड़ती नज़र आएगी तो कभी बिल्कुल मुरझाये से फूल की तरह हो जाएगी।

उन्होंने हर इमोशन्स को बखूबी परदे पर उतारा है। रोमांस किंग शाहरुख़ खान इस फिल्म में रोमांस करते तो नज़र नहीं आएँगे लेकिन फिर भी उनसे अपनी नज़र हट नहीं पाएगी। उन्हें देखकर आपको वाकई लगने वाला है कि वो आकर आपको भी ज़िंदगी जीना सिखा दे।     

कितनी पटरी पर है फिल्म 

कितनी पटरी पर है फिल्म 
via

गौरी शिंदे ने इंग्लिश-विंग्लिश का निर्देशन कर बॉलीवुड में एक अलग ही पहचान बना ली है। इस फिल्म को लेकर भी उनसे खासी उम्मीदें थी।  गौरी इन उम्मीदों पर खरी उतरती भी नज़र आती हैं। उन्होंने फिल्म  में छोटी-छोटी बातों का भी ध्यान दिया है। फिल्म में बहुत से पलों को कुछ इस तरह चित्रित किया गया है कि दर्शक उन्हें अपनी जिंदगी से जुड़ा हुआ मानने लगेंगे।  लेकिन एक बात यह भी है कि फिल्म की गति थोड़ी धीमी है।  इसे और बेहतर किया जा सकता था।

संगीत में कितना है दम 

संगीत में कितना है दम 
via

फिल्म का 'लव यू ज़िंदगी' गाना तो पहले से ही लोगों की जुबान पर चढ़ा हुआ है। फिल्म की शुरुआत अरिजीत सिंह की सोलफुल आवाज़ में 'तू ही है' के साथ होती है। उसके बाद विशाल ददलानी का 'लेट्स ब्रेकअप' आपको थिरकने पर मजबूर कर देगा। इस फिल्म के संगीत के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि इसका बैकग्राउंड म्यूजिक गज़ब का है। फिल्म के लोकेशन्स के साथ बैकग्राउंड म्यूजिक ताल से ताल मिलाता नज़र आता है।

कैमरे ने दिखाया कितना कमाल 

कैमरे ने दिखाया कितना कमाल 
via

'डियर जिंदगी' की शूटिंग मुख्य रूप से मुंबई और गोवा में हुई है। उसमे से भी अधिकतर हिस्सा गोवा में शूट हुआ है। इस फिल्म में गोवा की वादियों को बहुत ही खूबसूरती के साथ कैद किया गया है। आप फिल्म के एक्टर्स के साथ ही लोकेशन्स के भी फेन हो जाएंगे। फिल्म में कुछ शॉट्स तो आपको सीधा गोवा ही पहुंचा देंगे। यह फिल्म अच्छी कहानी के साथ ही बेहतरीन विसुअल ट्रीट भी है।

क्यों देखें फिल्म

क्यों देखें फिल्म
via

यदि आप शाहरुख खान और आलिया भट्ट के फैन हैं तो वैसे भी यह फिल्म देखने ही वाले हैं। लेकिन अगर आप उनके फैन नहीं भी हैं तो एक बार यह फिल्म जरूर देखें। अगर आप ज़िंदगी और उसके फलसफे के बारे में सोचते हैं तो आपको यह फिल्म आपकी ज़िंदगी के बहुत करीब लगेगी। हर किसी की ज़िंदगी में कुछ न कुछ दिक्कतें होती हैं। यह फिल्म आपको उन दिक्कतों का सामना करने का हौसला देगी। अगर आप इस वीकएंड कुछ गंभीर और सोलफुल देखना चाहते हैं तो यह फिल्म आपके लिए है। जिन्हें मसाला फिल्मे पसंद हैं उन्हें यह फिल्म ज़रा बोर लग सकती है।

क्या आप यह फिल्म देखने जाना पसंद करेंगे?