बचपन में बताई गई ये 12 बातें केवल एक भ्रम है, भरोसा न हो तो पढ़िए यह स्टोरी

बाल दिवस के मौके पर जानिए कुछ राज की बातें।

बचपन में बताई गई ये 12 बातें केवल एक भ्रम है, भरोसा न हो तो पढ़िए यह स्टोरी
SPONSORED

बचपन से ही लगभग हम सभी को बातें सुनने को मिलती है कि ये मत करो। वो मत करो। ऐसा करोगे तो वैसा हो जाएगा। सिर पर मारने से सिर कमजोर हो जाता है। ये चीज खाने से गुस्सा बढ़ता है। वो चीज खाने से सर्दी होती है। यह खाने से पिम्पल्स हो जाते हैं। ऐसी कई बातें हमें सुनने को मिलती हैं।

हम इन्हें मानते भी हैं। अपने शरीर को इसी तरह ट्रीट भी करते हैं। मगर असल में हमारे शरीर से जुड़ी इन अनगिनत बातों में से कई बातें तो सिर्फ एक भ्रम है। जी हां। इनका सच्चाई से कोई वास्ता नहीं है। और तो और कई बातें ऐसी हैं जिनके बारे में आपने कभी सोचा भी नहीं होगा कि यह भी भ्रम हो सकती है। आज बात उन्हीं कुछ बातों की। 

#1 An apple in a day keeps the doctor away

#1 An apple in a day keeps the doctor away

बचपन से दिमाग में रखी यह बात भी सही नहीं है। सेब में विटामिन सी और फाइबर होता है। मगर केवल यह दोनों ही शरीर को स्वस्थ तो नहीं रख सकते। यदि आपके शरीर में किसी बैक्टीरिया या वायरस ने हमला कर दिया तो अकेला सेब क्या करेगा? आप ही बताइए।

RELATED STORIES

#2 टीवी के बहुत पास बैठने से आंखें खराब होती हैं। 

#2 टीवी के बहुत पास बैठने से आंखें खराब होती हैं। 
via

यह बात एक दौर में सही थी, लेकिन आज नहीं है। पहले टीवी से कुछ रेडिएशन निकलते थे, जो आंखों को नुकसान पहुंचाते थे। मगर आजकल के टीवी रेडिएशन फ्री होते हैं। हालांकि किसी स्क्रीन की ओर लगातार देखने से आंखों पर जोर जरूर पड़ता है।

#3 आइस्क्रीम आपकी सर्दी को और भी बढ़ा देती है।

#3 आइस्क्रीम आपकी सर्दी को और भी बढ़ा देती है।
via

यह तथ्य पढ़कर आपको बहुत खुशी मिलने वाली है। यदि आपको सर्दी है तो आप बिल्कुल मजे से आइस्क्रीम खा सकते हैं। डेरी प्रोडक्ट्स से अधिक मात्रा में म्यूकस बनने वाली बात में कोई सच्चाई नहीं है। इतना ही नहीं कई विशेषज्ञों का तो यह भी दावा है कि जमे हुए डेरी प्रोडक्ट्स खराब गले को राहत देते हैं। आपकी कैलोरीज की कमी को भी पूरा करते हैं।

#4 तनाव से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है।

#4 तनाव से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है।
via

तनाव हाई ब्लड प्रेशर का कारण नहीं होता है। अधिक तनाव होने से ब्लड प्रेशर और बढ़ जाता है, मगर तनाव हाइपरटेंशन का मुख्य कारण नहीं होता है।

#5 पुरुषों को महिलाओं के मुकाबले अधिक हार्ट अटैक आता है। 

#5 पुरुषों को महिलाओं के मुकाबले अधिक हार्ट अटैक आता है। 
via

आपने भी कई मौकों पर यह बात सुनी होगी। असल में महिलाओं में बीमारी से मौत का सबसे बड़ा कारण हार्ट अटैक ही होता है। हृदयाघात से सभी तरह के कैंसर को मिलाकर होने वाली मौतों से भी अधिक मौतें होती है। इतना ही नहीं हार्ट सर्जरी के दौरान महिलाओं की मौत की आशंका 50% अधिक होती है।

#6 बिना ऑक्सीजन के खून का रंग नीला होता है।

#6 बिना ऑक्सीजन के खून का रंग नीला होता है।
via

हम हमेशा से यही सुनते आए हैं कि गंदा खून जिसमें ऑक्सीजन नहीं होती वो नीले रंग का होता है। मगर यह भी एक भ्रम ही है। बिना ऑक्सीजन का खून डार्क रेड कलर का होता है। यह कई परतों से ढंका होता है, इसलिए हमारी नसें हमें नीली दिखाई देती हैं।

#7 उंगलियां चटकाने से अर्थराइटिस होता है। 

#7 उंगलियां चटकाने से अर्थराइटिस होता है। 
via

उंगलियां चटकाना कई लोगों का शगल होता है। उन लोगों के लिए यह एक खुशखबरी की तरह है। अध्ययनों में सामने आया है कि लगातार कई साल तक ऐसा करने पर भी ऐसा कोई खतरा नहीं होता है।

#8 हर दिन 8 गिलास पानी पीना चाहिए।

#8 हर दिन 8 गिलास पानी पीना चाहिए।
via

शरीर को हाइड्रेटेड रखना जरूरी है।मगर इसके लिए कोई निश्चित मात्रा नहीं होती। कुछ स्टडी में तो फ्लूड इन्टेक और किडनी, दिल, त्वचा से संबंधित रोगों के बीच भी कोई कनेक्शन सामने नहीं आया है।

#9 मरने के बाद भी बाल और नाखून बढ़ते हैं।

#9 मरने के बाद भी बाल और नाखून बढ़ते हैं।
via

अगर आपने भी ये बात कही सुनी थी तो यह बिल्कुल भी सही नहीं है। किसी भी डेड बॉडी के बाल या नेल्स नहीं बढ़ते हैं। वो तो मरने के बाद त्वचा सूख जाती है। ये बड़े नजर आने लगते हैं।

#10 गाजर खाने से रात में देखने की क्षमता बढ़ती है।

#10 गाजर खाने से रात में देखने की क्षमता बढ़ती है।
via

गाजर में विटामिन ए होता है। यह आँखों की रोशनी को बढ़ाने के लिए उपयोगी होता है। मगर फिर भी इसे खाने से इस तरह की सुपरपावर आ जाना जरा ज्यादा ही हो गया।

#11 च्युइंग गम निगल लो तो इसे पचने में 7 साल लगते हैं।

#11 च्युइंग गम निगल लो तो इसे पचने में 7 साल लगते हैं।
via

इससे बड़ा जोक तो कुछ नहीं होगा। यदि आप च्युइंग गम निगल भी लेते हैं तो यह इंटेस्टाइन में जाती है और बाकी चीजों की तरह शरीर से बाहर निकल जाती है।

#12 ऑयली स्किन को ड्राई करने की जरूरत होती है।

#12 ऑयली स्किन को ड्राई करने की जरूरत होती है।
via

यदि हम ऑयली स्किन को ड्राई करते हैं, तो उसे फिर से वैसा करने के लिए और अधिक ऑइल प्रोड्यूस करती है। इसका मतलब स्किन को ड्राय करने से हालत और खराब हो जाती है। बेहतर है कि ऑइल फ्री प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें।

क्या आपको भी बचपन की ऐसी ही कोई बात याद आ रही है?