महिलाओं के लिए बनाई गई है करंट वाली 'ब्रा' और दांत वाले 'कंडोम' जैसी कई डिवाइसेस, जानिए क्यों?

इनके होने मात्र से आप रह सकती हैं बिल्कुल सुरक्षित।

महिलाओं के लिए बनाई गई है करंट वाली 'ब्रा' और दांत वाले 'कंडोम' जैसी कई डिवाइसेस, जानिए क्यों?
SPONSORED

जब भी अखबार उठाओ तो मर्डर, सुसाइड या महिलाओं के साथ छेड़छाड़ जैसी खबरें पढ़ने को मिलती हैं। नेशनल क्राइम रिकार्ड्स ब्यूरो के मुताबिक 2015 में महिलाओं के साथ बलात्कार के 34,600 केस सामने आए थे। इनमें से 33,098 मामलों में तो अपराधी पीड़िता का परिचित ही था। राज्यों की बात करें तो मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा 4,391 केस सामने आए थे। 

महिलाओं पर होने वाले अत्याचार के बारे में तो सभी जानते हैं। लेकिन इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए जो गैजेट्स बन रहे हैं, उनके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। इनमें से कुछ डिवाइस खबरों में भी आ जाते हैं। मगर ऐसे दर्जनों बेहतरीन गैजेट्स हैं जो बन तो जाते हैं मगर यह आम लोगों तक पहुंच नहीं पाते हैं। 

तो चलिए आज हम आपका काम कुछ आसान कर देते हैं। हम आपको कुछ ऐसे ही एंटी-रैप डिवाइस के बारे में बताएंगे, जो महिलाओं की मदद कर सकते हैं। उनके साथ होने वाली किसी भी अनहोनी को रोकने में कारगर साबित हो सकते हैं।  

आइए जानते हैं पूरा मामला।

झटकेदार जैकेट्स 

झटकेदार जैकेट्स 

यह 'एंटी मोलेस्टेशन जैकेट' इंडिया के 'नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी' के स्टूडेंट्स ने बनाया है। साधारण सा दिखने वाला यह जैकेट 110 वॉल्ट का करंट मारता है। इसके लिए पहनने वाले को बस एक बटन दबाना होता है।

RELATED STORIES

शॉक देने वाली ब्रा 

शॉक देने वाली ब्रा 

चेन्नई की एसआरएम यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने यह 'ब्रा' डिजाइन की थी। यह 'ब्रा' संभावित रेपिस्ट को 3,800 केवी का झटका देती है। साथ ही यह पीड़िता के दोस्तों, परिजनों और पुलिस को उसकी जीपीएस लोकेशन भी भेजती है। इस डिवाइस को SHE (Society Harnessing Equipment) नाम दिया गया है।

गार्जियन नेकलेस 

गार्जियन नेकलेस 
via

दिखने में खूबसूरत इस नेकलेस को ब्रेसलेट की तरह भी पहना जा सकता है। इसके निर्माता के अनुसार जब कोई महिला किसी अप्रिय स्थिति में फंस जाती है तो वो नेकलेस में बना एक सीक्रेट बटन प्रेस कर सकती है। इसकी मदद से उस महिला के फोन पर फेक कॉल आ जाता है और वो उस सिचुएशन से खुद को अलग कर सकती है। इसके अलावा ज्यादा खतरे की स्थिति में इस बटन को लॉन्ग प्रेस करने पर किसी दोस्त के पास महिला की जीपीएस लोकेशन भी पहुंच जाती है।

दांतों वाले कंडोम्स 

दांतों वाले कंडोम्स 

दांतों वाले इन खास फीमेल कंडोम्स को दक्षिण अफ्रीका की एक महिला डॉक्टर ने बनाया था। इन कंडोम्स के दांत गलत हरकत करने वाले पुरुष के पेनिस में लग जाते हैं और इन्हें सिर्फ डॉक्टर्स ही निकाल सकते हैं। यदि महिलाएं किसी ऐसे स्थान पर जा रही हो जहां उन्हें पहले से ही खतरा लग रहा हो तो वो इनका इस्तेमाल कर सकती हैं। 

एंजल विंग वाला अलार्म 

एंजल विंग वाला अलार्म 
via

परी के पंखों (एंजल विंग) की तरह दिखने वाला यह क्यूट सा डिवाइस मुश्किल के वक्त में महिलाओं के बड़े काम आ सकता है। जैसे ही खतरा महसूस हो, महिलाओं को एक बटन दबाना हैं। इससे अलार्म बज उठेगा और हमलावर भी भाग जाएगा। यह डिवाइस 90 डेसीबल का साउंड प्रोड्यूस करता है। इसे बैग या मोबाइल में लटकाया जा सकता है।

एंटी रैप वियर 

एंटी रैप वियर 
via

न्यूयॉर्क की एक कंपनी ने महिलाओं के लिए ये अल्ट्रा टाइट शॉट्स और अंडरवियर्स डिजाइन किए हैं। इन अंडरवियर्स में लॉक सिस्टम है। जिसकी मदद से एक बार कोई इसे पहन ले तो अन्य व्यक्ति इसे निकाल नहीं सकता है। साथ ही इसके फैब्रिक को आसानी से फाड़ा या काटा भी नहीं जा सकता।

 स्मार्ट सेफ्टी ज्वैलरी

 स्मार्ट सेफ्टी ज्वैलरी

'Athena' नाम का यह छोटा सा डिवाइस किसी व्यक्ति द्वारा हमला करने की स्थिति में संबंधित महिला के दोस्तों और परिजनों को उसकी लोकेशन भेज देता है।

एंटी रैप ग्लव्स 

एंटी रैप ग्लव्स 

एंटी रैप ग्लव्स की मदद से महिलाएं आसानी से हमलावर के छक्के छुड़ा सकती हैं। इसमें सामान्य से ग्लव्स में स्क्रू के साथ स्टील की प्लेट लगा दी जाती है, जिससे सामने वाले को गहरी चोट लगती है। इन्हें आसानी से घर पर भी बनाया जा सकता है।

मोबाइल एप्स 

मोबाइल एप्स 
via

यदि आपके पास इनमें से कोई गैजेट लेने का वक्त नहीं है तो कुछ मोबाइल एप्स भी आपकी बहुत मदद कर सकती हैं। इन एप्स में Vith U, My Panic alarm, SOS Emergency, Global alarm जैसी एप्स शामिल हैं। इनमें आमतौर पर इमरजेंसी की स्थिति में किसी करीबी तक मैसेज पहुंच जाता है।

क्या यह काफी है? 

क्या यह काफी है? 
via

ये डिवाइसेस तो फिर भी कुछ काम आ सकते हैं। मगर कुछ डिवाइस तो ऐसे भी हैं जो मदद से ज्यादा टार्चर लगते हैं। यहाँ सवाल यही उठता है कि कब तक महिलाओं को इस तरह बचने के गुर सिखाए जाएंगे? असल में तो इस घिनौनी बीमारी को जड़ से खत्म करना जरूरी है। 

आप यह स्टोरी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिएगा। 

क्या आपने आज से पहले ऐसी किसी डिवाइस के बारे में कुछ सुना था?