इतना बुरा भी नहीं होता गांजा, इसके होते हैं ये 10 फायदे

अब यह सुनकर फूंकना मत शुरू कर देना।

इतना बुरा भी नहीं होता गांजा, इसके होते हैं ये 10 फायदे
SPONSORED

भारत में बैन चीजों की लिस्ट में एक ऐसी चीज भी शामिल है, जिसके बिना आजकल अधिकांश युवा बिल्कुल नहीं रह पाते। वो चीज है 'गांजा'। अब कहने को तो ये बैन है मगर आसानी से हर शहर की गली-नुक्कड़ पर मिल जाता है। इसके नशे में धुत, पगलाते हुए लोग शायद आपने कभी न कभी देखे भी होंगे। 

तभी तो कहते हैं कि नशा कैसा भी हो, बुरा ही होता है। और हां। गांजे के फायदे बताने के पीछे हमारा इरादा इसे प्रमोट करने का बिल्कुल भी नहीं है। मगर हां, यदि साइंस के मुताबिक इसकी सही खुराक ली जाए तो ये सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है। 

आज हम आपको गांजे के ऐसे ही कुछ फायदे बताने जा रहे हैं। इन्हें जानने के बाद भी शायद आपको यकीन ना हो। लेकिन आपको बता दें कि यह तमाम बातें वैज्ञानिकों की रिसर्च में साबित हो चुकी हैं।

1. दिमाग की रक्षा

1. दिमाग की रक्षा

Tel Aviv यूनिवर्सिटी के साइंटिस्ट इस बात को साबित कर चुके हैं कि, गांजा स्ट्रोक की स्थिति में दिमाग को नुकसान होने से बचाता है। यह स्ट्रोक के असर को दिमाग के कुछ हिस्सों में ही सीमित कर देता है।

RELATED STORIES

2. नींद में फायदेमंद

2. नींद में फायदेमंद
via

 नॉटिंघम यूनिवर्सिटी की रिसर्च के अनुसार अनिद्रा और बेचैनी के मामलों में भी गांजा असरकारक है। ये बेहतर नींद में मदद करता है। 

3. कैंसर रोकने में 

3. कैंसर रोकने में 
via

अमेरिका की एक रिसर्च के अनुसार गांजे में कैनाबिनॉएड्स नाम का एक तत्व पाया जाता है, जो कैंसर की कोशिकाओं को मारने में सक्षम हैं। ये तत्व ट्यूमर के विकास के लिए जरूरी रक्त कोशिकाओं को रोक देता है। इसकी मदद से कोलन कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर और लीवर कैंसर का इलाज भी किया जाता है।

4. शांति का एहसास

4. शांति का एहसास
via

गांजे में कैनाबिनॉएड्स कंपाउंड पाया जाता है, जो हमें शांति का अहसास देने वाले दिमाग के हिस्से को कोशिकाओं से जोड़ता है। 

5. मिर्गी के दौरे को रोक सकता है

5. मिर्गी के दौरे को रोक सकता है
via

एक रिसर्च के अनुसार गांजे में मिलने वाले कुछ तत्व मिर्गी के दौरे को भी टाल सकते हैं। 

6. हेपिटाइटिस सी में असरकारक 

6. हेपिटाइटिस सी में असरकारक 
via

हेपेटाइटिस सी में थकान, नाक बहना, मांसपेशियों में दर्द, भूख न लगना और डिप्रेशन जैसे साइड इफेक्ट्स पाए जाते हैं। यूरोपियन जर्नल ऑफ गेस्ट्रोलॉजी एंड हेप्टोलॉजी के अनुसार गांजे की मदद से 86 प्रतिशत मरीजों का इलाज पूरा किया गया। उनके अनुसार गांजे ने हेपेटाइटिस सी के साइड इफेक्ट्स को कम किया है। 

7. पेन किलर

7. पेन किलर
via

शुगर से पीड़ित अधिकतर लोगों के हाथ या पैर की नर्व्स को नुकसान होता है,जिसकी वजह से शरीर के कुछ हिस्से में जलन का अनुभव होने लगता है। कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के अनुसार इस तरह होने वाले दर्द में गांजा आराम देता है।

8. दर्द में भी देता है आराम

8. दर्द में भी देता है आराम
via

एक दूसरी रिसर्च के अनुसार गांजा, नर्व्स डैमेज वाले दर्द में भी आराम पहुंचा सकता है। इस तरह के दर्द से पीड़ित कुछ मरीजों ने इस बात की पुष्टि भी की है। 

9. ऑटोइम्यून के इलाज में 

9. ऑटोइम्यून के इलाज में 
via

कभी-कभी हमारे शरीर में इम्युनिटी, रोगों से लड़ते-लड़ते स्वस्थ्य रक्त कोशिकाओं को भी मारने लगती है। इससे फैलने वाले इन्फेक्शन को ऑटोइम्यून डिसीज कहते हैं। 2014 में साउथ कैरोलिना यूनिवर्सिटी की रिसर्च के अनुसार गांजा में मिलने वाला टीएचसी, इसे रोकने के काम आता है। ऑटोएम्यून के मरीजों का भी इलाज गांजे के जरिये किया जाता है।

 10. मोतियाबिंद के इलाज में 

 10. मोतियाबिंद के इलाज में 
via

गांजे का इस्तेमाल मोतियाबिंद को रोकने और उसके इलाज में भी किया जाता है। 

गांजे के फायदे तो हमने आपको बता दिए हैं। मगर हां, इन्हें जानने के बाद आप गांजा पीना मत शुरू कर दीजीयेगा क्योंकि अति हर चीज की खराब होती है।  

यह स्टोरी दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिएगा।

क्या आप ऐसी ही किसी चीज के फायदे से जुड़ी कोई बात जानना चाहते हैं?