जानिए लाखों लोगों के दिल में जगह बनाने वाले यहया बूटवाला के बारे में कुछ ख़ास बातें

"शायद ये मोहब्बत है", आपने भी सुना होगा।

जानिए लाखों लोगों के दिल में जगह बनाने वाले यहया बूटवाला के बारे में कुछ ख़ास बातें
SPONSORED

"हाँ, लेकिन जिस्मों में उलझने से पहले तुम उसकी जुल्फों में उलझाना चाहते हो...तो शायद ये मोहब्बत है...।" 

यूँ तो मोहब्बत को कई लोगों ने अपने-अपने तरीकों से अल्फाजों में पिरोया है। मगर मुंबई के 21 साल के इस लड़के की बात लाखों लोगों के दिलों में घर कर चुकी है। ये जितनी सादगी से कविताओं को कहता है, उतनी ही जिंदादिली से अपने मन की बात हर किसी के साथ साझा भी करता है।  

यहया बूटवाला की कविता 'शायद यही प्यार है' इन दिनों इन्टरनेट पर सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली चीज बन चुकी है। ऐसे में जब हमें यहया से बात करने का मौका मिला तो हमने उनकी कहानी उन्हीं की जुबानी जानने और समझने की कोशिश की। 

हालांकि इस बातचीत को इंटरव्यू का नाम देना कुछ अटपटा सा लग रहा है, क्योंकि बात तो कुछ ऐसी थी जैसे एक अरसे बाद किसी पुराने दोस्त का नम्बर मिला लिया हो। और वो दोस्त अपनी जिन्दगी के हिस्से बांटता चला जा रहा हो। अच्छी बात यह थी कि यहया ने दिल खोलकर विटिफीड से बात की। 

तो फिर देर किस बात की है। आइए जानते हैं पूरी बात।

आखिर किसकी मोहब्बत में है ये सब?

आखिर किसकी मोहब्बत में है ये सब?

जाहिर सी बात है 'शायद यही प्यार है' सुनकर हर किसी के दिल में ख्याल आता है कि इस प्यार भरे नगमों के पीछे प्रेरणा कहाँ से मिली? आखिर कौन है वो? और हमने पूछ भी लिया कि आखिर किसकी मोहब्बत में ये लिखा जा रहा है।

RELATED STORIES

जवाब में आई पुरजोर हंसी और ये बात...

जवाब में आई पुरजोर हंसी और ये बात...

जवाब से पहले रिसीवर के उस ओर से जोर की हंसी सुनाई दी। यहया ने कहा, "हाँ, एक लड़की थी जिसके साथ था। काफी पगली और झल्ली थी, वो कुछ और नहीं तो मुस्कराहट की वजह जरूर थी।"

क्या राइटर बनना ही ख्वाहिश थी?

क्या राइटर बनना ही ख्वाहिश थी?

इस सवाल पर यहया ने कहा, 'नहीं, मैं एक्टर बनना चाहता हूँ। अब मेरा 'aim' एक्टर बनने का ही है। लेकिन लिखना हमेशा से शौक रहा है। अब तो लफ़्ज़ों से मोहब्बत हो चुकी है। I Have developed a deeper connection with words.'

इस तरह किया रिजेक्शन्स का सामना

इस तरह किया रिजेक्शन्स का सामना

पुराने दौर को याद करते हुए यहया ने कहा,"मैंने कॉलेज में बहुत से प्ले डायरेक्ट किये हैं। बहुत सी स्क्रिप्ट लिखी हैं। मगर कई बार ऐसा भी हुआ कि आखिर में मुझे रिपेल्स कर दिया गया। मैंने बहुत रिजेक्शन्स देखे हैं। दिल में जो चीज तोड़-फोड़ मचा देती है, उसे सबसे बेहतर तरीके से कागज पर उकेरा जा सकता है। बस मैंने भी यही किया।"

फेमस होना कैसा है?

फेमस होना कैसा है?

मिल रहे फेम पर यहया ने कहा, ''शायद यही प्यार है' जिस तरह लोगों ने पसंद किया उसे देखकर ये यकीन कर पाना मुश्किल है कि लोग इस ज़माने में भी मोहब्बत में यकीन रखते हैं। लोगों की मोहब्बत का शुक्रगुज़ार हूँ। हर जगह लोगों ने मुझे बेहद प्यार दिया है। मेरे बस में अगर होता तो मैं एक-एक का शुक्रिया अदा करता।' 

क्या चैलेंज था?

क्या चैलेंज था?

यहया ने बताया, 'मैं science stream से रहा हूँ। CET में काफी अच्छे मार्क्स थे। इस लिहाज से तो इंजीनियरिंग ही करना थी। मगर मैंने मास मीडिया को चुना। That was not a challenge but yaa a tough decision.'

फैन फॉलोइंग देखकर क्या लगता है?

फैन फॉलोइंग देखकर क्या लगता है?

फिर एक बार हंसी की आवाज कानों से टकराती है। इस अावाज में खुशी की लहर साफ झलक रही थी। यहया कहते हैं कि, "यार जितनी पहचान और इज्जत मिल रही है। वो सबकुछ आप लोगों की वजह से है। मैं सच में बेहद शुक्रगुजार हूँ इस मोहब्बत का।"

एक बार और सुनना तो बनता है!

'शायद यही प्यार है' के लेखक यहया बूटवाला से बातचीत करने के बाद यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि

"हीरे की शफक है तो अँधेरे में चमक,
धूप में आकर तो शीशे भी चमक जाते है।"
आप अगर कुछ स्पेशल मैसेज यहया को भेजना चाहते हैं तो हमें arhma@wittyfeed.com पर मेल करें।