नाबालिग छात्रा की हत्या पर फूटा लोगों का गुस्सा, 10 दिन बाद मिला कटा हुआ सिर 

परिजनों ने लगाया गैंगरेप का आरोप। 

नाबालिग छात्रा की हत्या पर फूटा लोगों का गुस्सा, 10 दिन बाद मिला कटा हुआ सिर 
SPONSORED

देशभर में आए दिन दुष्कर्म और हत्या के मामले सामने आते रहते हैं। निर्भया कांड के बाद तो इस संबंध में कमिटी गठित कर कड़े नियम भी बनाए गए हैं। मगर दरिंदों के इरादों को इनसे भी कोई फर्क नहीं पड़ा है। 

उत्तरप्रदेश एक तरह से इस घिनौने अपराध का गढ़ बन चुका है। योगी आदित्यनाथ ने राज्य का मुख्यमंत्री बनने के बाद राज्य की कायापलट के लिए ताबड़तोड़ काम किए थे। लेकिन अब तक वे राज्य में अपराध की दर पर लगाम नहीं कस पाए हैं। 

कुछ दिन पहले पांच दरिंदों ने 14 साल की एक मासूम लड़की को अगवा कर उसकी हत्या कर दी और शरीर के टुकड़े कर उन्हें खेत में ही फेंक दिया। मामले में पुलिस से शिकायत की गई तो जांच कछुए के चाल से चली। 

मृतका के परिजनों ने पुलिस पर लापरवाही के आरोप लगाए हैं और उन्हें बेटी की मौत का जिम्मेदार भी ठहराया है। 

आइए विस्तार से जानते हैं पूरा मामला। 

मोदीनगर की घटना 

मोदीनगर की घटना 

यह घटना उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद जिले के मोदीनगर की है। यहां 4 सितम्बर को 14 वर्षीय मूनम यादव लापता हो गई थी।14 सितम्बर की रात पीड़िता की लाश कलछीना गांव के पास एक गन्ने के खेत में क्षत-विक्षत हालत में मिली थी। 

RELATED STORIES

बनना चाहती थी आईएएस अफसर 

बनना चाहती थी आईएएस अफसर 
via

मृतका के पिता नरेश यादव ने बताया कि उसका सपना आईएएस अफसर बनने का था, इसलिए वो बिहार से मोदीनगर आए थे। वे सब्जी का ठेला लगाते हैं, फिर भी मूनम को प्राइवेट स्कूल में दाखिला दिलवाया था। 

जानिए छात्रा और आरोपी का क्या था संबंध।

परिचित था आरोपी 

परिचित था आरोपी 
via

नरेश यादव अपने परिवार के साथ आरोपी हरी ओम शर्मा के उमेश पार्क स्थित घर में किराए से रहते थे। आरोपी शादीशुदा था और उसकी लड़की से अच्छी दोस्ती हो गई थी। कुछ कारणों से चार महीने पहले ही यादव परिवार ने वो घर छोड़ा था। 

आरोपी ने दी थी धमकी 

आरोपी ने दी थी धमकी 
via

हरी ओम घर छोड़ने के बाद भी नाबालिग से मिलता रहता था और परिजनों के आपत्ति उठाने पर उन्हें धमकाता था। घटना के चार दिन पहले ही उसने मोदी मंदिर के पास मृतका के पिता को धमकी दी थी कि,"तेरी बेटी को कुछ हो गया तो तू कुछ कर भी नहीं पाएगा।"

आरोपी ने इस तरह की हत्या।

बेरहमी से की हत्या 

बेरहमी से की हत्या 
via

पुलिस ने मृतका और मुख्य आरोपी हरि ओम के बीच प्रेम प्रसंग होने का दावा किया था। उसके अनुसार शादी का दबाव बनाने पर हरि ओम ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर छात्रा को बहलाया फुसलाया एवं गन्ने के खेत में ले गया। वहां गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को खेत में छोड़ दिया और उसे छुपाने के लिए पानी भर दिया। 

पुलिस ने की खानापूर्ति 

पुलिस ने की खानापूर्ति 
via

परिजनों ने उसी दिन हरिओम पर शक करते जताते हुए बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। पुलिस ने आरोपी को बुलाया भी लेकिन स्थानीय राजनेता से संबंध होने के कारण उसे जल्द ही छोड़ भी दिया। दो दिन बाद परिजन फिर पुलिस स्टेशन गए लेकिन उन्हें भगा दिया गया।

परिजन ने लगाए ऐसे आरोप।

10 दिन बाद मिली लाश 

10 दिन बाद मिली लाश 
via

परिजनों के लगातार दबाव बनाने के बाद 11 सितम्बर को फिर आरोपी को बुलाया। आरोपियों पर दबाव बनाने के बाद उन्होंने गुनाह कबूला। पुलिस को 14 सितम्बर को पुलिस को मृतका का सड़ा-गला सिर और शुक्रवार को धड़ मिला। 

गैंगरेप के आरोप 

गैंगरेप के आरोप 
via

पुलिस ने पांचो आरोपियों पर आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया था। मृतका के पिता ने दावा किया है कि आरोपियों ने उनकी बेटी के साथ गैंगरेप कर उसकी हत्या कर दी थी। 

आगे देखिए परिजनों द्वारा धरने का वीडियो। 

हाईवे पर विरोध 

लोगों ने शव को साथ लेकर नेशनल हाईवे 58 पर जाम लगा दिया और नारेबाज की। एसपी क्राइम ने परिजनों को सही जांच का आश्वासन देते हुए मामले को शांत करवाया। पुलिस ने मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों को भी बर्खास्त कर दिया है।  

Source 

क्या हम इस देश की बेटियों को एक सुरक्षित समाज दे पाएंगे?