महिलाओं की तरह पुरुषों में भी होती है ऐसी परेशानियां, ये है असल वजह  

हार्मोनल बदलाव के अलावा भी होते हैं कई कारण। 

महिलाओं की तरह पुरुषों में भी होती है ऐसी परेशानियां, ये है असल वजह  
SPONSORED

"गर्लफ्रेंड के साथ जरा कम रहा कर। उसके साथ रहते हुए लड़कियों जैसा बिहेव करने लगा है तू।" ऐसा कहकर सभी दोस्त उसकी हंसी उड़ाने लगे। वैसे गलत भी क्या था। सामान्य तौर पर सब यही मानते हैं कि लड़कियों का बिहेवियर उनकी शारीरिक परेशानियां केवल उनकी ही होती हैं। लड़कों की शारीरिक और मानसिक स्थिति उससे बहुत अलग होती है। जिस तरह छोटी-छोटी बातों पर लड़कियां चिढ़ जाती हैं, गुस्सा करने लगती हैं। उन्हीं बातों में लड़के बहुत कूल होते हैं। छोटी-मोटी टेंशन को तो वे यूँ ही हवा में उड़ा देते हैं। 

लेकिन ये सिर्फ कहने की बातें हैं। असलियत तो इससे अलग ही होती है। कुछ बीमारियां ऐसी होती हैं जिनके बारे में हमें लगता है कि ये केवल महिलाओं को ही हो सकती है। लेकिन असल में उन्हीं बीमारियों से पुरुषों को भी जूझना पड़ता है। आज हम आपको उन्हीं बीमारियों के बारे में बताएंगे।

पहले एक सवाल 

पहले एक सवाल 

क्या आपके साथ ऐसी कोई सिचुएशन आई है, जब आप एक साथ कई तरह के इमोशंस से जूझ रहे हों। जैसे उसी समय आपको किसी पर गुस्सा आ रहा हो तभी आपके साथ कोई फनी बात हो जाए और आप जोर-जोर से हंसने लगे। क्या आपके साथ ऐसा हुआ है? 

RELATED STORIES

मूड स्विंग 

मूड स्विंग 
via

अगर आपका जवाब 'हाँ' हैं तो आप भी महिलाओं की तरह एक गंभीर समस्या में फंसे हुए हैं। सामान्य तौर पर महिलाओं के बारे में ये बात कही जाती है कि वे बहुत संवेदनशील होती हैं। इसकी वजह से उनका मूड बदलता रहता है। इसे 'मूड स्विंग' कहा जाता है। 

पुरुषों में मूड स्विंग 

पुरुषों में मूड स्विंग 
via

महिलाओं की तरह पुरुषों में भी मूड स्विंग की परेशानी देखी गई है। यह ऐसी स्थिति होती है, जिसमें व्यक्ति का मूड कभी इधर तो कभी उधर होता रहता है। ऐसे में पुरुष थोड़ी देर में खुश तो थोड़ी देर में निराश और क्रोधित हो जाते हैं।

पुरुषों में स्तन कैंसर 

पुरुषों में स्तन कैंसर 
via

सामान्यतः ये माना जाता है कि स्तन कैंसर जैसी बीमारी केवल महिलाओं को ही होती है। लेकिन कई बार पुरुषों को भी इस बीमारी से 2-4 होना पड़ता है। उम्र बढ़ने, मोटापे, अधिक शराब पीने की वजह से पुरुष स्तन कैंसर के शिकार हो जाते हैं।    
आगे देखिए ऐसी ही कुछ और समस्याओं के बारे में।

गांठ पड़ना 

गांठ पड़ना 
via

2 से 3 प्रतिशत पुरुषों में स्तन कैंसर होने की आशंका रहती है। इसमें उनके स्तनों के पास या बगल में गांठ पड़ना इस बीमारी का सबसे विशेष लक्षण होता है।

अन्य लोगों से ईर्ष्या 

अन्य लोगों से ईर्ष्या 
via

महिलाओं के साथ ही इस तथ्य को जोड़ा जाता है कि वो कभी किसी को अपने से आगे बढ़ते हुए नहीं देख सकती। लेकिन हाल ही में हुए एक सर्वे में सामने आया कि पुरुष भी महिलाओं की तरह ऐसा ही कुछ सोचते हैं। वो भी किसी और को सफल होते देख ईर्ष्या करने लगते हैं।

डिप्रेशन का शिकार 

डिप्रेशन का शिकार 
via

जिन्हें भी ये लगता है कि लड़के बहुत कूल होते हैं और उन्हें किसी भी बात की कोई टेंशन नहीं होती तो हम आपको बता दें कि आप बिल्कुल गलत हैं। लड़के खुलकर अपनी बातें किसी को बताने से कतराते हैं। और तो और वो तो लड़कियों की तरह रो भी नहीं पाते। ऐसे में डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं।

ऑफिस में स्ट्रेस 

ऑफिस में स्ट्रेस 
via

हम सभी को ये लगता है कि केवल महिलाएं ही ऑफिस के काम और वर्कलोड को लेकर चिढ़चिढ़ी हो जाती हैं। लेकिन इस मामले में लड़के भी काफी चिढ़चिढ़े हो जाते हैं। बाद में अपना गुस्सा, सिगरेट और शराब पीकर उतारते हैं।

प्यार से बने राह 

प्यार से बने राह 
via

अगर आप एक लड़की हैं तो आप अपने साथ होने वाली इस समस्या से गुजर चुकी होंगी या गुजर रही होंगी। अपने साथ हुई इस समस्या को ध्यान में रखते हुए ही लड़कों से बात करें। प्यार से की गई बात उनके मूड को झट से ठीक कर सकती है। 

Source  

क्या आपने आपके किसी दोस्त में नोटिस की हैं ऐसी कुछ बातें?