रेप के मामले में तो अमेरिका जैसे देश की हालत भी है खराब, जानिए दुनिया के कुछ और देशों का हाल

चेतावनी : ये तथ्य आपको झकझोर देंगे।

रेप के मामले में तो अमेरिका जैसे देश की हालत भी है खराब, जानिए दुनिया के कुछ और देशों का हाल
SPONSORED

रेप या बलात्कार, लगभग रोज ही इस शब्द से हमारा सामना हो ही जाता है। कभी अखबार के पहले पन्ने पर आक्रोश के साथ तो कभी अंदर के किसी पन्ने पर खामोशी के बीच। कभी यह शब्द न्यूज चैनल्स पर टीआरपी बटोरता हुआ दिखता है तो कभी न्यूज के दौरान नीचे चल रही हेडलाइंस में गुम हो जाता है। 

ये शब्द सुनकर या पढ़कर कुछ समय के लिए हमारे खून में भी उबाल आता है, लेकिन फिर दफ्तर की हड़बड़ी या कॉलेज के लेक्चर के बीच हम सभी इसे इग्नोर कर आगे बढ़ जाते हैं। आखिर हमारा इससे क्या लेना-देना? वैसे अफसोस तो इसी बात का है कि हमारा इससे कुछ लेना-देना क्यों नहीं है? 

रेप की समस्या जितनी हमें नजर आती है, असल में उससे कहीं बड़ी है। आज हम आपको इस समस्या का भयावह रूप दिखाने जा रहे हैं। आइए देखते हैं।

भारत में हर दिन लगभग 92 औरतें बलात्कार की शिकार होती हैं। 

भारत में हर दिन लगभग 92 औरतें बलात्कार की शिकार होती हैं। 

RELATED STORIES

साल 2016 में रेप के 2,199 मामले केवल दिल्ली से सामने आए हैं।

साल 2016 में रेप के 2,199 मामले केवल दिल्ली से सामने आए हैं।
via

Source

भारत में साल 2015 में बलात्कार के 34,600 मामले सामने आए थे। 

भारत में साल 2015 में बलात्कार के 34,600 मामले सामने आए थे। 

Source

भारत में यौन शोषण के 90% मामलों में रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई जाती है। 

भारत में यौन शोषण के 90% मामलों में रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई जाती है। 
via

ये आंकड़े तो केवल हमारे देश के ही हैं। ऐसा नहीं है कि केवल भारत के लिए ही बलात्कार से जुड़ी सच्चाई बेहद काली है। यदि हम दुनिया के अन्य देशों से जुड़े आंकड़ों पर नजर डालेंगे तो पाएंगे कि आज यह समस्या मानवीयता को शर्मसार कर रही है। 

आइए एक नजर अन्य आंकड़ों पर भी डाल लेते हैं।

डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ द कान्गो

डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ द कान्गो
via

मध्य अफ्रीका के इस देश को 'रेप कैपिटल ऑफ द वर्ल्ड' के नाम से भी जाना जाता है। यूनाइटेड नेशन के अनुसार यौन शोषण के मामलों में यहां के हालात दुनियाभर में सबसे खराब हैं। यहां सालभर में यौन शोषण से जुड़े करीब 4,00,000 मामले सामने आते हैं।

कान्गो में युद्ध के दौरान हर घंटे लगभग 48 महिलाओं का रेप होता था।

कान्गो में युद्ध के दौरान हर घंटे लगभग 48 महिलाओं का रेप होता था।
via

इथियोपिया - पूर्वी अफ्रीका 

इथियोपिया - पूर्वी अफ्रीका 

इस पूर्वी अफ्रीकन देश में भी महिलाओं के लिए हालात बेहद खराब हैं। यहां कोई भी मर्द किसी लड़की को प्रेग्नेंट कर उसे अपनी पत्नी बना सकता है।

टर्की 

टर्की 
via

एक स्टडी के अनुसार टर्की में 33% पुलिसवालों का मानना है कि कुछ महिलाएं बलात्कार की हकदार होती हैं। यहां की 50% जनता का यह भी मानना है कि लड़कियों का पहनावा आदमियों को रेप करने के लिए उकसाता है।

ये तो बात हुई कुछ पिछड़े हुए देशों की। आइए अब देखते हैं विकसित देशों का हाल।

इंग्लैंड & वेल्स

इंग्लैंड & वेल्स

यूनाइटेड किंगडम के दो महत्वपूर्ण हिस्सों की बात की जाए तो यहां हर साल लगभग 85,000 महिलाओं एवं 12,000 आदमियों का बलात्कार होता है। मतलब हर घंटे 11 बलात्कार की घटनाएं।

इंग्लैंड & वेल्स में हर साल लगभग 5 लाख युवा यौन हिंसा का सामना करते हैं। 

इंग्लैंड & वेल्स में हर साल लगभग 5 लाख युवा यौन हिंसा का सामना करते हैं। 
via

इंग्लैंड में यौन हिंसा के पीड़ितों में से केवल 15% ही पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाते हैं।

इंग्लैंड में यौन हिंसा के पीड़ितों में से केवल 15% ही पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाते हैं।
via

चीन 

चीन 

संयुक्त राष्ट्र संघ ने अपनी एक स्टडी के तहत चीन के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में आदमियों से सवाल किए कि क्या उन्होनें कभी किसी महिला के साथ सेक्स के लिए जबरदस्ती की है? लगभग 23% का जवाब था 'हां'। हालांकि चीन की सरकार ने कभी इस बात को स्वीकार नहीं किया और इसीलिए चीन में रेप की घटनाओं के कोई आधिकारिक आंकड़े मौजूद नहीं हैं।

फ्रांस 

फ्रांस 
via

2012 में आई एक रिपोर्ट के अनुसार फ्रांस में हर साल रेप की 75,000 घटनाएं होती हैं। हालांकि दुनिया के अन्य स्थानों की तरह यहां भी अधिकतर मामलों की रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई जाती है। परन्तु पिछले कुछ सालों में यहां रिपोर्ट दर्ज करवाए जाने वाले मामलों की संख्या बढ़ी है। 

फ्रांस में गैंगरेप भी है एक बड़ी समस्या 

फ्रांस में गैंगरेप भी है एक बड़ी समस्या 

साल 2014 की रिपोर्ट पर नज़र डाली जाए तो हर साल 5,000 से 7,000 मामले गैंगरेप से जुड़े होते हैं। साल 2012 में 2 लड़कियों ने पेरिस के बाहरी इलाके में उनके साथ होने वाले गैंगरेप का खुलासा किया था। एक पीड़िता ने बताया था कि उसके साथ बलात्कार करने के लिए लगभग 50 लड़के लाइन लगाए खड़े थे।

जर्मनी - न्यू ईयर सेलिब्रेशन 

जर्मनी - न्यू ईयर सेलिब्रेशन 
via

जर्मनी में यदि रेप की बात की जाए तो 2015/16 में नए साल के जश्न के दौरान हुई घटना सबसे पहले आँखों के सामने आती है। नए साल के सेलिब्रेशन के दौरान सामूहिक तौर पर यौन शोषण के कई मामले सामने आए थे। कथित तौर पर तब 24 बलात्कार दर्ज किए गए थे। इस घटना के बाद विश्वभर में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर बहस छिड़ गई थी।

जर्मनी में 1995 से लेकर 2004 के बीच रेप के दर्ज मामलों में 3% से ज्यादा की बढोत्तरी हुई है। मौजूदा समय में यह आंकड़े और भी अधिक हैं।

जर्मनी में 1995 से लेकर 2004 के बीच रेप के दर्ज मामलों में 3% से ज्यादा की बढोत्तरी हुई है। मौजूदा समय में यह आंकड़े और भी अधिक हैं।
via

Source

द यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका

द यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका

अमेरिका का नाम आते ही हमारे दिमाग में एक साफ सुथरी छवि बन जाती है। लेकिन वास्तविक आंकड़ों पर यदि नजर डाली जाए तो अमेरिका भी इस ग्लोबल समस्या से बचा हुआ नहीं है।

अमेरिका में डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस के अनुसार हर साल लगभग 3 लाख औरतों का रेप होता है।

अमेरिका में डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस के अनुसार हर साल लगभग 3 लाख औरतों का रेप होता है।
via

Source

अमेरिका जैसे विकसित देश में भी रेप के 54% मामलों में रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई जाती है।

अमेरिका जैसे विकसित देश में भी रेप के 54% मामलों में रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई जाती है।
via

अमेरिका में हर 5 में से 1 महिला के यौन शोषण की आशंका होती है।

अमेरिका में हर 5 में से 1 महिला के यौन शोषण की आशंका होती है।
via

बीते साल US आर्मी में रेप के कुल 16,500 मामले दर्ज किए गए थे।

बीते साल US आर्मी में रेप के कुल 16,500 मामले दर्ज किए गए थे।
via

US आर्मी में शामिल महिला सैनिकों में से करीब 25% ने किसी न किसी तरह के यौन उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज करवाई है।

US आर्मी में शामिल महिला सैनिकों में से करीब 25% ने किसी न किसी तरह के यौन उत्पीड़न की रिपोर्ट दर्ज करवाई है।
via

Source

USA में यौन शोषण पीड़ितों में से 15% की उम्र 12 साल से कम होती है। 

USA में यौन शोषण पीड़ितों में से 15% की उम्र 12 साल से कम होती है। 
via

अब यदि अमेरिका ने बाहर निकलकर विश्वभर के कुछ और तथ्यों पर नजर डालें तो आंकड़े और भी चौंकाने वाले हैं। 

द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद रशियन सैनिकों के द्वारा करीब 10-20 लाख जर्मन महिलाओं के साथ बलात्कार किए गए थे।

द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद रशियन सैनिकों के द्वारा करीब 10-20 लाख जर्मन महिलाओं के साथ बलात्कार किए गए थे।

अफगानिस्तान में कई मामले ऐसे भी सामने आते हैं, जिनमें महिलाओं का रेप होने के कारण उन्हें कैद की सजा सुना दी जाती है।

अफगानिस्तान में कई मामले ऐसे भी सामने आते हैं, जिनमें महिलाओं का रेप होने के कारण उन्हें कैद की सजा सुना दी जाती है।

दुनियाभर में रोजाना 18 साल से कम उम्र की 25,000 लड़कियों की शादी कर दी जाती है।

दुनियाभर में रोजाना 18 साल से कम उम्र की 25,000 लड़कियों की शादी कर दी जाती है।
via

ये तो दुनियाभर में रेप से जुड़े कुछ बेहद डरावने आंकड़े थे। आइए अब एक नजर अलग-अलग देशों में रेप के लिए दिए जाने वाली सजाओं पर बात करते हैं।

भारत में रेप से जुड़े मामलों में दी जाने वाली अधिकतम सजा फांसी या उम्रकैद है। 

भारत में रेप से जुड़े मामलों में दी जाने वाली अधिकतम सजा फांसी या उम्रकैद है। 

फ्रांस में बलात्कार का दोषी पाए जाने पर 15 साल से लेकर उम्रकैद तक की सजा हो सकती है। 

फ्रांस में बलात्कार का दोषी पाए जाने पर 15 साल से लेकर उम्रकैद तक की सजा हो सकती है। 
via

चीन में रेप के लिए मौत की सजा दी जाती है। इसके अलावा आदमी के लिंग को निष्क्रिय भी किया जा सकता है। 

चीन में रेप के लिए मौत की सजा दी जाती है। इसके अलावा आदमी के लिंग को निष्क्रिय भी किया जा सकता है। 
via

सऊदी अरब में रेप का दोषी पाए जाने पर कुछ ही दिनों के भीतर सिर को धड़ से अलग कर मौत दे दी जाती है। 

सऊदी अरब में रेप का दोषी पाए जाने पर कुछ ही दिनों के भीतर सिर को धड़ से अलग कर मौत दे दी जाती है। 

नार्थ कोरिया में रेप करने पर गोलियों से भूनकर मौत की नींद सुला दिया जाता है। 

नार्थ कोरिया में रेप करने पर गोलियों से भूनकर मौत की नींद सुला दिया जाता है। 
via

इजराइल में रेप के लिए 16 साल कैद से लेकर उम्रकैद तक का प्रावधान है। 

इजराइल में रेप के लिए 16 साल कैद से लेकर उम्रकैद तक का प्रावधान है। 
via

अमेरिका में रेप के दोषियों को अपनी ज़िन्दगी सलाखों के पीछे बितानी पड़ती है। 

अमेरिका में रेप के दोषियों को अपनी ज़िन्दगी सलाखों के पीछे बितानी पड़ती है। 

अफगानिस्तान में रेप के लिए सिर पर गोली मारकर मौत दी जाती है। फांसी का प्रावधान भी है।

अफगानिस्तान में रेप के लिए सिर पर गोली मारकर मौत दी जाती है। फांसी का प्रावधान भी है।
via

क्या सिर्फ आरोपियों को सजा देना काफी है?

क्या सिर्फ आरोपियों को सजा देना काफी है?
via

क्या रेप की बढ़ती घटनाओं के लिए हम सभी दोषी नहीं हैं? यौन उत्पीड़न के मामलों में हो रही बढ़ोत्तरी से यह बात तो तय है कि मानवीय मूल्यों में गिरावट आ रही है। क्या सिर्फ कानून बनाकर और आरोपियों को सजा देकर इन समस्याओं से निपटा जा सकता है? मेरे हिसाब से तो नहीं। महिलाओं को उनका सम्मान दिलाने के लिए हम सभी को आगे आने की जरूरत है।

जरूरत है सोच बदलने की 

जरूरत है सोच बदलने की 
via

यौन शोषण की समस्या को खत्म करने के लिए जरूरी है कि समाज की सोच को बदला जाए। बलात्कार जैसी घटिया हरकत किसी घटिया सोच में ही उपजती है। जरूरत है इस सोच को सुधारने की। एक बार आप भी सोचिए कि समाज को सुधारने के लिए आप क्या कर रहे हैं?

Source 

यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें। आप यहाँ क्लिक कर मुझे अपना फीडबैक भेज सकते हैं।

क्या आप मानते हैं कि रेप जैसे अपराध समाज की जागरूकता से ही रुक सकते हैं?