ऐसी आधुनिक चीजें जो असल में हमारे पूर्वजों से भी पुरानी हैं

इनमें से कुछ का तो आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते। 

ऐसी आधुनिक चीजें जो असल में हमारे पूर्वजों से भी पुरानी हैं
SPONSORED

आज विज्ञान ने बहुत तरक्की कर ली है। तभी तो नए-नए अविष्कारों का सिलसिला थम ही नहीं रहा है। हमारी जिंदगी भी बेहद सरल होती जा रही है। ऐसे में जब कभी भी हम इन आधुनिक अविष्कारों की ओर देखते हैं तो लगता है कि अच्छा हुआ जो हम पुराने समय में पैदा नहीं हुए, वरना इनके बगैर जीना तो बेहद मुश्किल हो जाता। लेकिन वास्तविकता में ऐसा कुछ नहीं है। 

हमारे पूर्वज भी काफी समझदार थे। उनके बनाए गए नियमों पर चलकर ही आज आधुनिक समाज बनाना संभव हो पाया है। ऐसे में साइंस के मामले में वे हमसे पीछे कैसे रह सकते थे? दरअसल आधुनिक समय की कई चीजें ऐसी हैं जिनकी खोज सदियों पहले ही हो चुकी थी। फिर समय के साथ हमने केवल उसमें कुछ छोटे-मोटे बदलाव मात्र किए हैं। यह सच है। आप खुद देख लीजिए ये लिस्ट। पहली बार में आपको भी चौंकाएगी। 

अलार्म क्लॉक 

अलार्म क्लॉक 

प्राचीन ग्रीक दार्शनिक प्लेटो (428-348 ई.पू.) के पास दुनिया की पहली अलार्म वाली घड़ी थी। इस घड़ी में पानी का इस्तेमाल होता था। एक समय तय कर देने के बाद उस समय पर यह घड़ी वाटर ऑर्गन की तरह आवाज निकाला करती थी।

RELATED STORIES

ऑटोमेटिक दरवाजे

ऑटोमेटिक दरवाजे
via

प्राचीन रोमन शहर अलेक्जेंड्रिया के एक मंदिर में ऑटोमेटिक दरवाजे हुआ करते थे। इनमें भाप से काम करने वाले हाइड्रोलिक सिस्टम का इस्तेमाल होता था। 

सीमेंट 

सीमेंट 
via

मुख्य रूप से सीमेंट का काम चीजों को जोड़ना ही है। सीमेंट एक रोमन शब्द है। प्राचीन हेलेंस के पास सीमेंट की तरह काम करने वाले पदार्थ थे, जिनका इस्तेमाल निर्माण कार्यों में किया जाता था। हैरानी की बात ये है कि लाइमस्टोन, क्ले, रेत व पानी के इस मिश्रण का इस्तेमाल 100 ईसा पूर्व में ही शुरू हो चुका था।

क्लॉक टॉवर

क्लॉक टॉवर
via

प्राचीन रोम में 'टावर ऑफ विंड्स' के नाम से मशहूर संभवतः दुनिया का पहला क्लॉक टावर भी मौजूद था।

क्रेन 

क्रेन 

ईसा पूर्व छठी शताब्दी में हेलेंस (प्राचीन रोम) के लोगों के द्वारा एक मंदिर के निर्माण कार्य हेतू भारी पत्थरों को उठाने के लिए मैकेनिज्म तैयार किया गया था। इसी मूल सिद्धांत पर आगे चलकर आधुनिक क्रेन का निर्माण किया गया।

लाइटहाउस 

लाइटहाउस 
via

अलेक्जेंड्रिया के प्रसिद्ध लाइटहाउस का निर्माण 300 ईसा पूर्व में किया गया था। करीब 120 मीटर (400 फीट) ऊंचा यह लाइट हाउस कई शताब्दियों तक दुनिया की सबसे ऊंची मानव निर्मित इमारत के तौर पर खड़ा रहा।

ओडोमीटर 

ओडोमीटर 
via

ओडोमीटर किसी भी वाहन के द्वारा तय की गई दूरी को नापने वाला यंत्र होता है। जैसा आज की आधुनिक गाड़ियों में लगा हुआ होता है। प्राचीन रोम में शहरों के बीच की दूरी नापने के लिए ओडोमीटर की तरह काम करने वाले मैकेनिज्म की खोज की जा चुकी थी।

सीवेज सिस्टम 

सीवेज सिस्टम 
via

400 ईसा पूर्व के आसपास बसे प्राचीन शहरों की खुदाई में यह बात स्पष्ट हो चुकी है कि प्राचीन लोगों के पास एक कारगर सीवेज सिस्टम हुआ करता था। इसी सीवेज सिस्टम के आधार पर बेहद उन्नत प्लानिंग के साथ इन प्राचीन शहरों को बसाया गया था।

शावर्स

शावर्स
via

आपको यह जानकर हैरानी होगी, लेकिन हमारे बाथरूम में लगे आधुनिक शावर भी असल में काफी पुराने हैं। प्राचीन रोम में नहाने के लिए शावर्स हुआ करते थे। यह दर्शाता है कि सदियों पहले इसकी खोज की जा चुकी थी।

स्टीम इंजन 

स्टीम इंजन 
via

सदियों पहले 'हीरो ऑफ अलेक्जेंड्रिया' नामक एक प्राचीन गणितज्ञ व अविष्कारक ने एक खिलौने के तौर पर स्टीम इंजन की खोज की थी। आधुनिक स्टीम इंजन की खोज से सदियों पहले ईजाद किए गए इस प्राचीन खिलौने का बेसिक मैकेनिज्म आधुनिक इंजन की तरह ही था।

सिंक 

सिंक 
via

एक ही समय में दोनों हाथ अच्छी तरह धोने के लिए बहते हुए पानी वाले सिंक की खोज भी प्राचीन रोम में हो चुकी थी।

वेंडिंग मशीन 

वेंडिंग मशीन 
via

यह एक दिलचस्प खोज थी। 'हीरो ऑफ अलेक्जेंड्रिया' के द्वारा तैयार की गई वेंडिंग मशीन काफी कारगर व लोकप्रिय मशीन हुआ करती थी। इस मशीन में ऊपर की तरफ से एक सिक्का डाला जाता था, जिसके बाद इसमें से एक निश्चित मात्रा में पवित्र पानी निकलता था।

थर्मामीटर 

थर्मामीटर 
via

प्राचीन समय में 'फिलो ऑफ बीजान्टिअम' नाम के एक दार्शनिक ने यह पता लगा लिया था कि गर्म होने पर हवा फैलती है। इसके बाद उसने ऊपर चित्र में दिखाए अनुसार एक मैकेनिज्म तैयार किया है, जिसे धूप में रखने पर पानी में बुलबुले उठने लगते थे। इसी समय के आसपास 'हीरो ऑफ अलेक्जेंड्रिया' ने मेडिकल इस्तेमाल के लिए दुनिया का पहला थर्मामीटर ईजाद किया। 

छाता

छाता
via

पुराने समय में छाते हड्डियों, लकड़ी या बड़ी आकार की पत्तियों से बनाए जाते थे। इनका इस्तेमाल बारिश या धूप में किया जाता था। यदि वक्त में पीछे देखा जाए तो लगभग 400 ईसा पूर्व के आसपास ऐसे छाते बनाए जा चुके थे, जिन्हें इस्तेमाल के अनुसार खोला या बंद किया जा सकता था।

ओलिंपिक खेल 

ओलिंपिक खेल 
via

पुराने ऐतिहासिक लेखों के अनुसार सबसे पहले प्राचीन ओलिंपिक खेल 776 ईसा पूर्व में रोमन लोगों के द्वारा आयोजित किए गए थे। इन ऐतिहासिक खेलों से प्रेरित होकर ही मॉडर्न ओलिंपिक खेलों की शुरुआत की गई थी। 

इन सभी अविष्कारों और इनके पीछे लगे दिमाग को देखकर यह कहा जा सकता है कि हमारे पूर्वज हमसे भी ज्यादा 'डूड' हुआ करते थे। 

यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें। आप यहां क्लिक कर मुझे अपना फीडबैक दे सकते हैं। 

क्या आप भी ऐसे ही किसी अविष्कार के बारे में कोई नई बात जानते हैं?