किसी का एनकाउंटर करके नहीं बल्कि गाना गाकर इंटरनेट सेंसेशन बन गया है ये पुलिस वाला

बड़े-बड़े सिंगर्स को दे रहा है टक्कर। 

किसी का एनकाउंटर करके नहीं बल्कि गाना गाकर इंटरनेट सेंसेशन बन गया है ये पुलिस वाला
SPONSORED

यूट्यूब पर वायरल होने के सिलसिले से आप अनजान नहीं होंगे। बस आप में टैलेंट होना चाहिए। रातों-रात शोहरत आपके कदम चूमने लगेगी। आज हम आपको ऐसे ही एक टैलेंटेड सिंगर से मिलवाने वाले हैं। इन्हें 'सिंगर' कहा जाए या 'पुलिस वाला', इसका फैसला तो आप खुद कीजियेगा। 

आप ही बताइए 'पुलिस वाला' नाम सुनते ही मन में किस तरह की छवि बनती है? पहली छवि तो 'सिंघम' के अजय देवगन की। ईमानदार, कर्मठ और तन-मन-धन से सेवा करने वाले। दूसरी छवि सड़क के उस पार खड़े सफेद कपड़े वाले दारोगा जी की, जो इतने दयालु होते हैं कि हरी पत्ती दिखाते ही मान जाते हैं।

लेकिन इस पुलिसवाले को देखकर आपको फिल्मों के पुलिस वाले याद आने लगेंगे। बॉस! इस टैलेंट को वायरल होना तो बनता ही है। अगर आप अभी तक संघपाल तायडे को नहीं जानते हैं तो अब जानना जरूरी है। देर मत कीजिए। स्टोरी पढ़िए। 

ऐसा माना जाता है कि...

ऐसा माना जाता है कि...

पुराने लोग एक कहावत कहा करते थे कि, "ईश्वर कोर्ट-कचहरी के चक्कर से दूर ही रखे।" कोई भी व्यक्ति अपनी चप्पलें पुलिस चौकी के चक्कर लगाते हुए नहीं घिसना चाहता।  

RELATED STORIES

कोतवाली के बाहर जमावड़ा 

कोतवाली के बाहर जमावड़ा 
via

लेकिन इस इंस्पेक्टर ने कुछ ऐसा जादू बिखेरा है कि हर कोई इनका दीवाना हो गया है। आलम यह है कि केवल इस इंस्पेक्टर के लिए लोग कोतवाली के बाहर लाइनें लगाए खड़े रहने लगे हैं। 

आवाज में है जादू

आवाज में है जादू
via

आप सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा क्या है इस इंस्पेक्टर में। तो बता दें कि संघपाल तायडे की आवाज में वो जादू है जिसके आगे अच्छे-अच्छे सिंगर फीके पड़ने लगे हैं। 

आप खुद सुन लीजिए 

यदि आपको हमारे शब्द महज तारीफ का पुल बांधने के समान लग रहे हैं। तो आप खुद इनकी आवाज सुन सकते हैं। फिर आगे की बात की जाएगी।

टैलेंट की खदान है ये साहब 

टैलेंट की खदान है ये साहब 
via

अगर आप वीडियो सुन चुके हैं तो समझ गए होंगे कि संघपाल के बारे में हम हवा में बात नहीं कर रहे थे। टैलेंट तो है। तायडे साहब गायिकी के फन से अच्छों-अच्छों को टक्कर दे सकते हैं।

इस तरह हुई शुरुआत 

इस तरह हुई शुरुआत 
via

तायडे ने 2007 में पुलिस डिपार्टमेंट ज्वाइन किया। उनकी ड्यूटी जलगांव में लगी हुई थी। साथ में एक और दोस्त थे, जिनका नाम था राजेश पाटिल। दोस्त ने गाने को कहा और इन्होंने बेझिझक तीन गाने गा दिए।

फेसबुक पर किया अपलोड

फेसबुक पर किया अपलोड
via

चूंकि दोस्त भी पुलिस डिपार्टमेंट में ही था। ऐसे में उसने तायडे का वीडियो महाराष्ट्र पुलिस के फेसबुक पेज पर अपलोड कर दिया।

सिर्फ इन्हें ही ये हुनर हासिल है 

बस फिर क्या था। जिस किसी ने भी तायडे को गाते हुए सुना, उनका मुरीद हो गया। हालाँकि मजेदार बात ये भी है कि इनके परिवार का दूर-दूर तक संगीत से कोई कनेक्शन नहीं है। बस इन्हीं को ये टैलेंट हासिल है।

बिना ट्रेनिंग के इतनी शानदार आवाज 

बिना ट्रेनिंग के इतनी शानदार आवाज 
via

इस पुलिस वाले ने कभी म्यूजिक की कोई ट्रेनिंग भी नहीं ली। अब आलम ये है कि महाराष्ट्र पुलिस डिपार्टमेंट में जो भी फंक्शन होता है, तायडे के गाने के बिना अधूरा होता है।

तो आप भी करो शेयर 

इन्टरनेट की दुनिया वाकई गजब है। एक गायक है 'ढिंचैक पूजा' और दूसरे हैं 'संघपाल तायडे'। पूजा का नसीब उनके साथ है और इनका टैलेंट इनके साथ है। ऐसे टैलेंट को शेयर करना तो बनता ही है।

क्या आपको लगता है कि टैलेंट को केवल सही अवसर की तलाश होती है?