क्या आप जानते हैं फलों पर चिपके स्टिकर्स का असली मतलब? जानिए इसके पीछे की वजह 

फलों की बेहतरी का प्रमाण होते हैं। 

क्या आप जानते हैं फलों पर चिपके स्टिकर्स का असली मतलब? जानिए इसके पीछे की वजह 
SPONSORED

"जैसा खाये अन्न वैसा बने मन, जैसा पिये पानी वैसी बने वाणी।" ये कहावत तो आपने कई दफा सुनी होगी। बचपन से ही हमें सिखाया जाता है कि जितना अच्छा और सात्विक खाएंगे, हमारा शरीर और मन उतना ही अच्छा होगा। इसके लिए हमारे बुजुर्ग ताजे फल-सब्जियां खाने वाली बात पर जोर देते रहे हैं।

लेकिन आजकल की लाइफ स्टाइल के चलते हम अपने बुजुर्गो की इस सलाह को तो जैसे भूल ही गए हैं। फिर भी कहीं भूले-बिसरे फल-सब्जियों की दुकान पर पहुंच जाते हैं। तो बिना सोचे-समझे किसी भी तरह के फल सब्जियां उठा कर ले आते हैं। 

लेकिन क्या कभी आपने सोचा कि जो फल आप लेकर आ रहे हैं, उन पर जो स्टिकर्स लगे होते हैं उनका क्या मतलब होता है? शायद नहीं। तो आज हम आपको बताएंगे कि फल पर लगे इन स्टिकर्स का क्या मतलब होता है?

आइये जानते हैं। 

महंगे नहीं अच्छे 

महंगे नहीं अच्छे 

सामान्य तौर पर जब भी लोग फल खरीदते हैं तो फल पर लगे स्टिकर को देखकर यही सोचते हैं कि फल पर स्टिकर लगा है, इसका मतलब ये है कि ये फल बिना स्टिकर वाले फल से महंगा है। लेकिन असल में ऐसा बिल्कुल नहीं होता।

RELATED STORIES

PLU कोड 

PLU कोड 
via

अगर आपने कभी गौर किया हो तो फलों पर चिपके इन स्टिकर्स में बारकोड की कुछ लाइन्स के साथ एक डिजिट कोड लिखा होता है। इसे PLU कोड कहते हैं।

क्या होता है PLU कोड? 

क्या होता है PLU कोड? 
via

PLU कोड का पूरा मतलब होता है 'Price Look Up' कोड यानी मूल्य लुक संख्या। यह फलों की गुणवत्ता को दर्शाता है।

PLU कोड का काम 

PLU कोड का काम 
via

PLU कोड पढ़कर आप ये जान सकते हैं कि फल अनुवंशित रूप से संशोधित, रासायनिक उर्वरकों या फंगलसाइड्स से विकसित हुआ है अथवा नहीं।  

जैविक रूप से उगाए गए फल 

जैविक रूप से उगाए गए फल 
via

कुछ फल बिना रसायनों और कीटनाशकों के जैविक रूप से उगाए जाते हैं। इन फलों में PLU कोड की संख्या 5 होती है और उनका कोड 9 से शुरू होता है।  

महंगे लेकिन सेहतमंद 

महंगे लेकिन सेहतमंद 
via

उदाहरण के लिए यदि फल पर (97685) की डिजिट दी गई है तो इसका मतलब यह है कि उस फल को जैविक विधियों से उगाया गया है और ये फल चाहे थोड़े महंगे हो लेकिन सेहत के लिए अच्छे होते हैं।  

गैर ऑर्गेनिक फल

गैर ऑर्गेनिक फल
via

वहीं कुछ फलों के PLU कोड 8 से शुरू होते हैं और ये भी जैविक फलों की तरह 5 डिजिट के होते हैं। इन्हें गैर-ऑर्गेनिक फलों की गिनती में रखा जाता है। 

हाइब्रिड फल 

हाइब्रिड फल 
via

इस कैटेगरी के फलों को हाइब्रिड फल कहा जाता है। इसका मतलब यह होता है कि इस फल की असल वैरायटी को अनुवांशिक तरीके से बदला गया है। इससे ये फल गैर-ऑर्गेनिक कहलाने लगते हैं।

कीटनाशकों से तैयार किए गए फल 

कीटनाशकों से तैयार किए गए फल 
via

वहीं ऑर्गनिक और गैर-ऑर्गेनिक फलों के अलावा कुछ ऐसे फल भी होते हैं, जिन पर 4 डिजिट का कोड लिखा होता है। जैसे यदि किसी फल पर (4765) लिखा है तो ये फल रासायनिक फलों की श्रेणी में आएँगे।

सस्ते लेकिन अनहेल्दी 

सस्ते लेकिन अनहेल्दी 
via

इस तरह के फल रसायनों और कीटनाशकों की मदद से उगाए जाते हैं। वैसे तो ये फल बाजार में सस्ते दाम पर ही मिल जाएंगे लेकिन ऑर्गेनिक फलों की तुलना में ये कम हेल्दी होते हैं।

Source 

तो अब जब भी फल खरीदने के लिए बाजार जाएं। फलों पर लगे इन स्टिकर्स को जरूर चेक करें। ऐसे ही दिलचस्प स्टोरीज पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। 

क्या आप मानते हैं कि इस मामले में ज्यादा ध्यान दिए जाने की जरूरत है?