सनी ने अपनी बेटी को जैकेट में छिपाकर लिखा इमोशनल मैसेज, दूसरे सितारों  का भी फूटा गुस्सा

दिल छू जाएगी सनी की ये बात। 

सनी ने अपनी बेटी को जैकेट में छिपाकर लिखा इमोशनल मैसेज, दूसरे सितारों  का भी फूटा गुस्सा
SPONSORED

वो 8 साल की बच्ची जब घर से जंगल के लिए निकली थी तब उसके माँ-बाप ने उसे आखरी बार जिन्दा देखा था। जब उन्होंने उसे दोबारा देखा तो उनकी बेटी उस हालत में थी कि पत्थर दिल इंसान की भी रूह काँप जाए। उनकी फूल जैसी बेटी को इंसान की शक्ल वाले भेड़ियों ने मंदिर जैसी पवित्र जगह पर नोच खाया। उन भेड़ियों में समाज की रक्षा करने वाला एक पुलिस ऑफिसर भी शामिल था।

साल 2016 में देश की महिलाओं के रेप के कुल 38,947 मामले सामने आए थे, जिसके अनुसार औसतन 107 महिलाएं हर दिन रेप का शिकार बनी। ये कहना गलत नहीं होगा कि महिलाएं और बच्चियां अब अपने खुद के घर में भी सुरक्षित नहीं हैं। देश के ऐसे घिनौने माहौल में हर माँ-बाप को अपनी बेटी की चिंता है। बॉलीबुड एक्ट्रेस सनी लियॉन ने भी इस माहौल में अपनी बेटी के लिए एक इमोशनल मैसेज लिखा है। जिससे सभी पेरेंट्स जुड़ाव महसूस कर पाएंगे।

अगर मुझे अपनी जान भी देनी पड़े तो परवाह नहीं...

Loading...

RELATED STORIES

सनी ने अपनी बेटी निशा को जैकेट में छिपाकर सोशल मीडिया पर एक फोटो पोस्ट की, जिसके साथ उन्होंने निशा के लिए मैसेज लिखा कि "मैं तहेदिल से तुमसे वादा करती हूँ कि इस दुनिया की सभी बुरी चीजों और लोगों से तुम्हारी रक्षा करूंगी। अगर इसके लिए मुझे जान भी देनी पड़े तो परवाह नहीं। दुनिया के हर बच्चे को इन बुरी ताकतों से सुरक्षित रखना चाहिए। आओ अपने बच्चों को कसकर थाम लें! उनकी हर कीमत पर रक्षा करें।"

सनी के अलावा दूसरे सेलेब्रिटीज ने भी कठुआ और उन्नाव केसेस पर अपना गुस्सा जाहिर किया। 

मुझे शर्म आती है...

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने अपने वीडियो मैसेज में कहा कि "मुझे शर्म आती है कि मैं ऐसी सोसाइटी का हिस्सा हूं।"

यह खबर मुझे बीमार बना रही है...

टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने लिखा कि "क्या हम ऐसे देश के रूप में दुनिया में अपना नाम बनाना चाहते हैं? अगर आज हम जेंडर, जाति, रंग और धर्म से परे इस 8 साल की बच्ची के लिए साथ खड़े नहीं हो सकते तो फिर कभी किसी चीज के लिए खड़े नहीं हो पाएंगे। इंसानियत के लिए भी नहीं। यह खबर मुझे बीमार बना रही है।"

या तो आवाज उठाएं या फिर गूंगे बने रहें...

बॉलीवुड एक्टर रितेश देशमुख ने लिखा कि "एक 8 साल की बच्ची को नशीली दवा देकर रेप किया गया और फिर हत्या कर दी गई, दूसरी ओर एक महिला अपने लिए और पुलिस हिरासत में अपने पिता की मौत के लिए न्याय मांग रही है। हमारे पास दो ही ऑप्शन्स हैं या तो आवाज उठाएं या फिर गूंगे बने रहें। जो सही है उसके लिए स्टैंड लीजिए चाहे आप अकेले ही क्यों न खड़े हों।"

आप एक इंसान ही नहीं है...

एक्टर-डायरेक्टर फरहान अख्तर ने लिखा कि "इमेजिन कीजिए उस 8 साल की बच्ची के दिमाग में उस वक्त क्या चल रहा होगा जब उसे नशीली दवाएं देकर, बांधकर इतने दिन तक रेप किया गया और फिर मार दिया। अगर आप उसके मन की दहशत और डर को महसूस नहीं कर सकते तो आप एक इंसान ही नहीं है। अगर आप उसके लिए न्याय की मांग नहीं करते तो आप कुछ भी नहीं हैं।"

कोई कैसे आपे में रह सकता है...

खिलाड़ी कुमार ने अपनी ट्वीट में लिखा कि "एक समाज के तौर पर हम फिर नाकाम हुए। जैसे-जैसे मासूम का केस सामने आ रहा है और सनसनीखेज़ खुलासे हो रहे हैं, कोई कैसे आपे में रह सकता है। उसका मासूम चेहरा मेरी नजरों से हट नहीं रहा। इंसाफ होना चाहिए, तुरंत और कठोर।"

हमें खुद पर शर्म आनी चाहिए...

सोनाली बेंद्रे ने लिखा कि "शर्मनाक। इंसानियत से जुड़े इस मामले को धार्मिक और राजनीतिक रंग देने पर हमें खुद पर शर्म आनी चाहिए। हमें शर्म आनी चाहिए कि इस दरिंदगी भरे अपराध पर हमारी आंखें तब खुलीं जब बाहर का मीडिया इसे रोशनी में लाया। अपने देश की लड़कियों की रक्षा करने में नाकाम होने पर हमें शर्म आनी चाहिए।"

ये डरावने से भी आगे का क्राइम है...

बॉलीवुड एक्टर राजकुमार राव ने भी अपना गुस्सा जाहिर करते हुए लिखा कि "ये डरावने से भी आगे का क्राइम है। अगर कोई भी होश में है तो कैसे उन दरिंदों की सपोर्ट में कुछ भी कह सकता है?"

अमानवीय...

बॉलीवुड डिरेक्टर करण जौहर ने लिखा कि "अमानवीय!! डरावना!! इंसाफ होना ही होना ही चाहिए।"

एक बच्ची सिर्फ प्यार की हकदार है...

सिंगर-एक्टर आयुष्मान ने लिखा कि "एक बच्ची सिर्फ प्यार की हकदार है और बलात्कारी सिर्फ सज़ा के, इसमें धर्म, जाति या रंग का कोई मतलब नहीं है।"

अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया तो इसे अपने करीबियों के साथ भी शेयर करें। 

मेरे और आर्टिकल्स पढ़ने के लिए, यहाँ क्लिक करें।

क्या उन आरोपियों को मौत की सजा मिलनी चाहिए?