ट्रेन और प्लेन को भूलकर देखिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट के नए साधन

आखिर ये नहीं देखा तो क्या देखा?

ट्रेन और प्लेन को भूलकर देखिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट के नए साधन
SPONSORED

घूमने-फिरने का शौक तो लगभग सभी को होता है। इसके अलावा एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाना भी हमारी रोज़ की जरूरतों में शुमार है। आज के वक्त में हम ट्रैवल के लिए बस, ट्रेन, प्लेन, कार, मेट्रो का सहारा लेते हैं लेकिन जल्दी ही ट्रांसपोर्ट के ये साधन पुराने होने वाले हैं।

जी हां, हो सकता है आपको पढ़ने में ये थोड़ा अजीब लग रहा हो लेकिन मुमकिन है कि आने वाले वक्त में आप ट्रांसपोर्ट के लिए इनमें से किसी का इस्तेमाल ना करें।

अब आप सोच रहे होंगे कि अगर परिवहन के लिए ये साधन प्रयोग में नहीं आएंगे तो फिर हम इधर से उधर जाएंगे कैसे? तो आपकी उत्सुकता को और बढ़ाए बिना मैं आपको बता देती हूं कि वो कौन से साधन हैं जो जल्दी ही ट्रांसपोर्टेशन के काम में आएंगे।

आप बस गौर से पढ़िएगा यह स्टोरी।

हाइपरलूप 

हाइपरलूप 

मुंबई के लोगों को बुलेट ट्रेन से भी दोगुने स्पीड से दौड़ने वाले हाइपरलूप का तोहफा मिलने जा रहा है। अगर जानकारी की माने तो हाइपरलूप से 1,000 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से मुंबई-पुणे के बीच सफर महज 13 मिनट में पूरा हो जाएगा। हाइपरलूप एक ट्यूब ट्रांसपॉर्ट टेक्नॉलजी है। इसमें बिजली का उपयोग बहुत कम है और ये पूरी तरह से प्रदूषण रहित है।

RELATED STORIES

न्यूक्लियर कारें

न्यूक्लियर कारें
via

भले ही आज के वक्त में न्यूक्लियर ऊर्जा को खतरे के संकेत के रूप में देखा जाता है लेकिन एक अमेरिकन कम्पनी ने आने वाले वक्त में इसे ट्रांसपोर्ट के साधन के रूप में इस्तेमाल करने का बीड़ा उठाया है। रेडियोएक्टिव मटैरियल पर काम करने वाली इस कार में शायद तीन से पांच साल में फ्यूल भरवाने की जरूरत पड़ेगी।

सुपरकैविटेशन

सुपरकैविटेशन
via

ये पानी में चलने वाली एक पनडुब्बी होगी, जिससे 9,900 किमी की दूरी सिर्फ 100 मिनट में तय की जा सकेगी। दरअसल, ये नई पनडुब्बी जिस सोवियत तकनीक पर आधारित होगी, उसका नाम सुपरकैविटेशन है। इस खास तकनीक की मदद से पानी में डूबी पनडुब्बी को एक पानी के बुलबुले के अंदर रखा जाएगा, जिससे कि पनडुब्बी को पानी द्वारा पीछे खिंचने की परेशानी खत्म हो जाएगी।

मार्टिन जेटपैक 

मार्टिन जेटपैक 
via

मार्टिन जेटपैक एकल व्यक्ति वाला एक विमान है। इसे 2010 में टाइम मैग्जीन के टॉप-50 बेस्ट अविष्कारों में शुमार किया गया था। तकरीबन 30 सालों की मेहनत के बाद मार्टिन नाम के एक व्यक्ति ने इसे बनाया और अब ये व्यवसायिक रूप खरीदे जाने के लिए तैयार है। इसकी स्पीड 74 किमी/घंटे की होगी।

स्काई लोन

स्काई लोन
via

ये एक ऐसा प्लेन होगा जिसकी विशेषताओं के बारे में सोचना भी किसी आम इंसान की सोच से परे है। यूनाइटेड किंगडम में 2013 में 90 मिलियन डॉलर के खर्चे से इस प्लेन को रिक्रिएट करने की घोषणा की। इसकी सुपर फास्ट प्लेन की स्पीड ध्वनि की चाल से भी कई गुना होगी।

स्काईट्रान

स्काईट्रान
via

ये भी ट्रांसपोर्ट के क्षेत्र में एक क्रांतिकारी कदम होगा, जो दो शहरों को 250 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से जोड़ेगा। इसे नासा ने तैयार किया है और ये मैग्नेटिक फील्ड के आधार पर काम करेगा। इसके रखरखाव का खर्च और इससे होने वाला ध्वनि प्रदूषण बहुत कम होगा।

स्कारब मोटरसाइकिल

स्कारब मोटरसाइकिल
via

अगर सीधे शब्दों में कहा जाए तो ये दुनिया की सबसे खूबसूरत मोटरसाइकिल होगी। इस मोटरसाइकिल में सेंसर, रडार, जीपीएस, समान रखने की जगह और पार्किंग के लिए विशेष मोड होंगे। इसकी स्पीड भी कही अधिक तेज होगी।

सेल्फ-ड्राइविंग कार

सेल्फ-ड्राइविंग कार
via

गूगल और फोर्ड मिलकर जल्दी ही सेल्फ ड्राइविंग कार लॉन्च करने की तैयारी में हैं। खबरों की माने तो 2019 में ये कारें मार्केट में उपलब्ध होंगी।

वेलोसिटी

वेलोसिटी
via

कुछ वक्त पहले, टोरंटो एक ऐसी बाइक के निर्माण पर कार्य कर रही है जिसकी गति तेज होगी। यह सभी सीज़न में चल सकेगी और प्रदूषण रहित होगी। हालांकि कुछ वजहों से इस प्रोजेक्ट को रोक दिया गया था लेकिन जल्दी ही इसके शुरू होने की पूरी उम्मीद है।

हो जाइए तैयार

हो जाइए तैयार
via

परिवहन के इन नए साधनों के बारे में पढ़कर आप भी एक्साइटमेंट से भर गए होंगे। आने वाले कुछ सालों में हम इनका लुत्फ उठा पाएंगे। अगर आपको पसंद आई हो यह स्टोरी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिएगा।

क्या आप मानते हैं कि भविष्य में ट्रांसपोर्टेशन के लिए यह बेहतर विकल्प बन सकते हैं?