...और देखते ही देखते एक बार फिर जीत गया कछुआ

वीडियो देखकर याद आ जाएगा बचपन।

कछुआ और खरगोश की कहानी तो आपको याद होगी। हां वही, जिसमें अधिकांश मौकों पर बच्चों को बताया जाता था कि कैसे आलस के कारण तेज दौड़ने वाला खरगोश भी दौड़ हार गया था जबकि कछुआ धीरे-धीरे चलते हुए भी जीत गया था। कारण कि वो लगातार चल रहा था। आलस को छोड़कर सतत कोशिश कर रहा था। आखिर में उसकी जीत हुई थी। 

बहरहाल आज हम आपको फिर से वो कहानी का ज्ञान देने के लिए यहां नहीं लाए हैं मगर हां, वो रोमांच को एक बार फिर वीडियो के जरिए आपके सामने लेकर आए हैं। यह निश्चित रूप से आपको एक बार फिर से बचपन की गलियाें में ले जाने में कारगर साबित होगा। तो अब ज्यादा सोचिए मत। तुरंत देखिये यह वीडियो। और हां, इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिएगा। 

बचपन की यादें तो सभी को अच्छी लगती हैं। सही कहा ना।